ई-कॉमर्स खबर

Amazon ने ‘गाँधी की फोटो वाली चप्पलों’ के साथ एक बार फ़िर दिया विवादों को जन्म

दुनिया के दुसरे सबसे प्रचलित देश भारत में लगातार अपने प्रोडक्ट्स की वजह से चर्चा में रह रहे Amazon को आने वाले समय में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है| तिरंगे के जैसा डोरमैट या पावदान बनाने के बाद एक बार फिर से Amazon ने महात्मा गाँधी की फोटो वाली चप्पलों को बाज़ार में उतार दिया है| डोरमैट में भारत सरकार की फटकार के बाद एक बार फिर से Amazon ने यह कारनामा किया है|

मोहनदास करम चन्द्र गाँधी या महात्मा गाँधी भारत देश के सबसे प्रिय नेता माने जाते हैं जिन्होंने ब्रिटिश सरकार से देश को आज़ादी दिलाई थी| भारत के अलावा भी वह कई देशों में लोकप्रिय रहें है जिनके कई कारणों में उनका अहिंसा के माध्यम से लक्ष्य की प्राप्ति करना भी रहा है| देश की आज़ादी में अपना पूर्ण सहयोग करने वाले गाँधी को भारत के राष्ट्रपिता की भी उपाधि दी गयी है और उसके बावजूद Amazon ने उनकी फोटो के साथ चप्पल को बाज़ार में लाकर इस वक़्त के सबसे ज्वलंत मुद्दे को उठा दिया है|

यह नयी चप्पल Amazon के US वेबसाइट पर दिखाई दे रही है जिसकी शिकायत दर्ज होने के बाद उसे वापिस ले लिया गया है| US में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों ने इस बात की शिकायत दर्ज करायी है|

इस बारे में बात करते हुए विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता, विकास स्वरुप ने NDTV से कहा है की,

“ डोरमैट के मामले के बाद हमारे वाशिंगटन के कार्यकर्ताओं को हिदायत दी गयी है की वह Amazon को मनाये की किसी भी तीसरे पार्टी को सामान बेचने का मंच देने से पहले ध्यान रखें की भारत के श्रध्दा और भावनाओं को ठेस न पहुंचे|”

इकोनॉमिक्स अफ्फैरैंस के सचिव शक्तिकांत दास ने भी इस विषय पर अपने विचार रखें हैं| उन्होंने कम्पनी को चेतावनी दी है की कम्पनी ने अगर ऐसे ही भारतीय श्रध्दा के साथ खिलवाड़ किया तो इसका जोखिम उन्हें खुद उठाना पड़ेगा|

इस विषय पर MEA ने विदेश मंत्रालय की मिनिस्टर सुषमा स्वराज के साथ मिलकर व्यक्तिगत तौर पर कम्पनी को चेताया है| सुषमा ने कहा है की कम्पनी अब अपनी हदों को पर कर रही है| ऐसे ही चर्चित डोरमैट को कनाडा की वेबसाइट पर देखा गया था| 

इसी समय पर Amazon India के उपाध्याक्ष्य अमित अग्रवाल ने भारतीय मिस्निस्ट्री को को ख़त भी लिखा है जिसमें उन्होंने बताया है की डोरमैट वाली गड़बड़ी का कारण यही था की उसे Amazon से सीधे नहीं बल्कि तीसरे पार्टी के माध्यम से बेचने की अनुमति दी गयी थी\

जो भी हो दोनों ही पक्षों को सामान बेचते समय कुछ बिन्दुओं का ध्यान रखना चाहिए| तीसरे पार्टी को अपने प्रोडक्ट देने के बाद भी Amazon को सामान की जाँच करवानी चाहिए| और यह निश्चित करना चाहिए की उनके प्रोडक्ट कही किसी की भावनाओं को ठेस न पहुंचाएं|

भारत में अपने भविष्य और अपनी पंहुंच को देखते हुए Amazon को अपनी इन गलतियों को सुधरना चाहिए| नहीं तो भारतीय ग्राहकों से तो क्या भारतीय सरकार से भी मिलने वाले सहयोग कपनी के लिए मुश्किल हो जायेंगे|

 

 

टेक्नो लवर, घूमना, खाना, किताबें पढ़ना और नये गैजेट्स का है शौख़| नयी चीजों को जानना और नए लोगों से मिलना है पहली पसंद|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन