खबर

IIT-मद्रास की वेबसाइट हुई हैक

अखिल भारतीय तकनीक संस्थान – मद्रास को तब परेशानी झेलनी पड़ी, जब उनके द्वारा चलायी जी रही सभी वेबसाइटें एक साथ ही हैक हो गयीं। कॉन्फ़्रेंसों की तारीखें बताने वाले वेबसाइटों के अलावा, इनकी छः डिपार्टमेंटों की वेबसाइटें, पांच गुणवत्ता केंद्र साइटें और पांच अन्य वेबसाइटें भी हैक हो गयी हैं।

हैक होने वाली वेबसाइटों में http://www.cce.iitm.ac.in, said.iitm.ac.in और biotech.iitm.ac.in शामिल थे। वहीं इनकी मुख्य वेबसाइट इन हमलों से सुरक्षित रही।

IIT-मद्रास के निदेशक भास्कर रामामूर्ती ने कहा:

विश्वविद्यालय की वेबसाइटें हैक होने के कारण कुछ कंटेंट पर बहुत परेशानी आयी है। IIT-मद्रास में होने वाली कॉन्फ़्रेंसों की जानकारी रखने वाली वेबसाइट हैक हुई है। ये, इसलिये हुआ, क्योंकि कई लोग इस वेबसाइट का प्रयोग कर सकते थे और पासवर्ड के ज़रिये कंटेंट इसपर डालते थे। परंतु अब पासवर्ड लिक हो गया होगा।

श्री रामामूर्ती ने ये भी कहा कि वेबसाइट कि सुरक्षा कम रखी गयी थी और ये बताया:

उसमें कल्चरल व तकनीकी फ़ेस्टों के लिंक हैं। बहुत से फ़ैकल्टी व छात्र इसका प्रयोग कर सकते हैं। हमने इसका चर्चा करी थी, परंतु इसका कोई समाधान नहीं निकला। अगर हम इसे और सुरक्षित करने का प्रयास किया तो हमें कंटेंट डालने वालों से शिकायतें आने लगेंगी।

बहरहाल IIT-मद्रास का वार्षिक कल्चरल फ़ेस्ट सारंग, 4 से 8 जनवरी कॉ बीच अयोजित होने वाला है। ऐसी परेशानी भविष्य में दूर करने के लिये, IIT ने अपनी कल्चरल व तकनीकी फ़ेसिटों को अलग-अलग कर दिया है।

हमारे पास जल्द ही कल्चरल व तकनीकी फ़ेसिटों के लिये अलग-अलग वेबसाइटें होंगी और कॉन्फ़्रेंसों की जानकारी रखने वाली वेबसाइट पर संस्थान की कोई जानकारी नहीं होगी।

श्री रामामूर्ती ने ये भी जोड़ा कि:

“हम वेबसाइटों की जांच कर रहे हैं और थोड़ा सी सफ़ाई के बाद ये चलने लगेंगी।

हैक हुई डिपार्टमेंटों की वेबसाइटों में बायोटेकनॉलॉजी, सिविल इंजीनियरिंग, ह्युमैनिटीज़ व सोशल विज्ञान, प्रबंध शिक्षा, मैथ और मेकैनिकल ब्रांचों की वेबसाइटें रहीं।

वेबसाइट पर करीब 16 डिपार्टमेंट शामिल हैं। इसके अलावा, हैक हुई वेबसाइटों में तकनीक व राजनैतिक केंद्र, शिक्षा केंद्र, स्वास्थ्य केयर इनोवेशन केंद्र, राष्ट्रीय कैंसर टिशू बायोबैंक, आग लगने की तकनीक की शोध व विकास की तकनीक का केंद्र शामिल थे।

केंद्रीय पुस्तकालय, केंद्रीय वर्कशॉप, केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स केंद्र, कंप्यूटर शोध के लिये पी जी सेनापती केंद्र और सोफ़िस्टिकेटेड ऐनालिटिक इंस्ट्रुमेंटेशन भी हैक बताये गये हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन