इंटरनेट खबर डिजिटल इंडिया

‘मोबाइल डेवलपर्स पाठ्यक्रमों’ को ऑनलाइन सीखने के मामले में ‘भारत’ ने ‘अमेरिका’ को पीछे छोड़ा : Google

आगामी तकनीकी दुनिया को मद्देनज़र रखें तो यह शायद भारत के लिए काफ़ी ख़ुशी की बात होगी | Google ने आज कहा कि डेवलपर्स दुनिया का सबसे बड़ा आधार बनने की ओर अग्रसर भारत, इस साल मोबाइल एप्लिकेशन के विकास संबंधी पाठ्यक्रमों को ऑनलाइन सर्च करने और सीखने के मामले में अमेरिका से आगे निकल चुका है |

Google ने अपने बयान में यह भी कहा कि भारत की ओर से पूछे गये, मोबाइल एप्लिकेशन विकास के पाठ्यक्रम संबंधी प्रश्नों की संख्या में, पिछले वर्ष की तुलना में 200 प्रतिशत की बढौतरी दर्ज़ की गयी, जिसमें कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र जैसे प्रदेशों ने अग्रणी भूमिका अदा की |

Google के अनुसार,

“ मोबाइल प्लेटफॉर्म के लिए विकास संबंधी पाठ्यक्रम सीखने के लिए भारत द्वारा मांगों में भरी इज़ाफा हुआ है, 2016 में भारत ने अमेरिका को मोबाइल डेवलपर पाठ्यक्रमों के प्रति दिलचस्पी के मामले में पीछे छोड़ दिया है ”

इसके पहले भी Google द्वारा यह बयान दिया गया था कि क़रीब 1 मिलियन ‘एंड्रॉयड मोबाइल मंच समाधान’ पर काम करने वाले लोगों के साथ भारत, 2018 तक 4 मिलियन की संख्या से साथ अग्रणी भूमिका निभाता नज़र आ सकता है |

इस बीच Google ख़ुद भी कई क़दमों द्वारा भारत की ओर अत्यधिक दिलचस्पी लेता नज़र आया है |

खैर ! डिजिटल तकनीक को लेकर आजकल भारत में जैसा माहौल है, इससे यह साफ़ जाहिर है की भविष्य में कई दिग्गज़ कंपनियाँ यहाँ के लोगों की कार्यकुशलता और कार्यक्षमता को इस्तेमाल करने का प्रयास करेंगीं |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन