खबर

कथित तौर पर Snapchat ने इज़राइली कृत्रिम बुद्धी स्टार्टप Cinemagine को $40 मिलियन में अधिग्रहित किया है

अपने लेंस फ़िल्टरों को और भी बहतर बनाने के लिये, Snapchat ने इज़राइली कृत्रिम बुद्धी स्टार्टप Cinemagine Media को अधिग्रहित कर लिया है। अधिकारिक रूप से ये डील अभी पूरी नहीं हुई है, परंतु कंपनी का वैल्युएशन, $30 से $40 मिलियन के बीच बताया जा रहा है। इस घोषणा को सबसे पहले क्रिसमस पर इज़राइली व्यापार ख़बर साइट Calcalist ने उजागर किया था।

Cimagine एक कृत्रिम बुद्धी से चलने वाला मंच है, जो कि उपभोक्ताओं को केवल एक बटन से ही आपको अपने आस पास चीज़ें दिखाने की आज़ादी देता है। उदाहरण के तौर पर, आप देख सकते हैं कि कोई भी सोफ़ा या डिनर टेबल आपके घर में कैसे लगेगा, वो भी उसे उस जगह पर रख कर (रियल लाइफ़ टैंगो जैसी कैप्चरिंग के ज़रिये)।

2012 में, इस कंपनी को ऑज़ी ऐर्गी, अमिराम अवरहम, योनी नीवो और निर डॉब ने स्थापित किया था। Cinemagine को हाल ही में OurCrowd, Explore.Dream.Discover, iVentures Asia Ltd और PLUS Ventures से निवेश भी प्राप्त हुआ था। ये कंपनी कोई नयी भी नहीं और Coca-Cola, यू के की शॉपिंग सेवा Shop Direct और यू एस के फर्निचर स्टोर Jerome ने इनकी सेवाओं का उपयोग किया है।

Snapchat ने संभवतः Cinemagine, को इसलिये अधिग्रहित किया क्योंकि वे पूर्व की सिलिकॉन वाली में भी अपना कार्य स्थापित करना चाहते हैं। इज़राइल स्थित Cinemagine का कार्यालय अप Snapchat के शोध व विकास संस्थान के रूप में जाना जायेगा और 20 लोगों की इनकी कार्य क्षमता में भी वृद्धी हो सकती है। Snapchat ने हाल ही में चीन में भी अपना शोध व विकास संस्थान स्थापित करने की इच्छा प्रकट करी थी।

भले ही Snapchat की अभिभावक कंपनी Snap Inc ने अपने सभी अधिग्रहणों को गुप्त रखा है, परंतु ये खबरें हमेशा उजागर हो ही जाती हैं उनके प्रचलित होने के कारण। ये, इज़राइल में इनकी पहला अधिग्रहण था और इसके साथ ये अपनी पूर्व उपस्थित कृत्रिम बुद्धी तकनीकों को और विकसित करेंगे। हो सकता है कि ये कोई ऐसी तकनीक लेकर आयें की आप खरीददारी या ई-कॉमर्स का प्रयोग करते हुए अपने दोस्तों से इसे Snapchat के माध्यम से बांट सकें।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन