खबर गेमिंग

Nintendo का Switch, संक्षिप्त होने पर हो जायेगा दुगना तेज़

Nintendo Switch की सबसे बड़ी खूबी ये है कि इसे लेकर घूमा जा सकता है। उपभोक्ता अपनी पूरी तरह HD TV पर Breath of the Wild गेम शुरू कर के, उसी गेम को अपने साथ ऑफ़िस जाते समय वाहन पर खेल सकते हैं। इसका सफल या असफल होना इस बात पर बहुत अधिक निर्भर करता है कि TV से पोर्टेबल पर ये कितना आसानी से बदलता है, और इसी चीज़ के शुरवाती अंकों ने कंपनी को परेशानी में डाल दिया है।

पिछले सप्ताह के अनौपचारिक अनुमान में कहे जाने के बाद कि Switch असल PS4 से कम ताकतवर होगा, नवीनतम हार्डवेयर को CPU व GPU समय पर केंद्रित किया गया है। रिपोर्टों में कहा गया कि संक्षिप्त करने या ना करने का प्रभाव, CPU कोर पर नहींं पड़ेगा, परंतु GPU कोर के साथ ऐसा नहीं है।

Eurogamer ने GPU अनुमानों से संबंधित इस रिपोर्ट को कुछ इस तरह समझाया:

हम ये पुष्टी कर सकते हैं कि डॉक में कोई भी दूसरा GPU या अधिक हार्डवेयर नहीं होगा, भले ही Nintendo ने ऐसे संकेत देने वाले कितने पेटेंट फ़ाइल किये हों। बैटरी व पावर की समस्या हटने के बाद, GPU और भी तेज़ हो जायेगा। डॉक किये गये Switch में मात्र GPU तेज़ चलेगा। और आसान भाषा में कहें तो ये ज़मीन आसमान का अंतर होगा। डॉक किये गये Switch में GPU बैटरी से चलने वाले GPU से 2.5x अधिक तेज़ चलेगा।

अगर एक एक अंक सही निकला, तो डॉक किया गया Switch, पोर्टेबल संस्करण से बहुत आगे रहेगा। इससे गेमरों से अधिक डेवलपरों को परेशानी आयेगी, क्योंकि उन्हें फिर हर गेम के दो संस्करण बनाने होंगे।

एक विशेषज्ञ ने तो ये भी कहा कि यह बिलकुल वही हो जायेगा कि डेवलपर PS4 व PS4 Pro दोनों के लिये विविध गेम तैयार करें। हम उम्मीद करते हैं कि इस नये कंसोल के आने से उत्साहित तीसरी पार्टी डेवलपर डर के भाग न जायें।

इस कंसोल की अधिक जानकारी के लिये ज़रा सी और प्रतीक्षा करनी होगी, केवल 12 जनवरी तक।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन