खबर स्टार्टअप्स

Uber ने हैदराबाद में लॉन्च की अपनी बाइक सेवा ‘UberMoto’

क्या आपको वर्ष की शुरवात में बेंगलुरु मे लांच हुई पायलट सेवा UberMoto याद है? सेवा को नियंत्रण परेशानियों के कारण रोकना पड़ा था। परंतु अब कंपनी ने हैदराबाद में ये सेवा लांच करी है।

Uber के सी.ई.ओ. ट्रैविस कलानिक भी हैदराबाद के इंक्यूबेटर THub के कार्यक्रम के दौरान UberMoto की सेवा के लांच पर उपस्थित थे। कंपनी ने हैदराबाद मेट्रो रेल के साथ भी साझा किया है, जिससे कि वे उपभोक्ताओं को अंतिम समय की कनेक्टिविटी उपलब्ध करा सकें।

Uber के सी.ई.ओ. ट्रैविस कलानिक ने लांच पर उक्त बयान दिया:

हैदराबाद व्यापार करने के लिये एक बहतरीन शहर है और यहां लोग इनोवेशन को हाथों हाथ लेते हैं। दुनिया भर के नियंत्रक रोड़ों के बाद भी, मैं Uber को संभव करने के लिये इस शहर को धन्यवाद देता हूं।

Uber पहले तीन किलोमीटरों के लिये ₹20 और फिर ₹5 प्रति किलोमीटर किराया लेगी। ये सेवा कंपनी को उपभोक्ता जोड़ने में तो सहायता करेगी ही, परंतु सस्ती राइडों के कारण उनके कैश बर्न में भी अपनी हिस्सोदारी दिखायेगी।

कमाल की बात है कि ये दाम, इनके बैंगलोर के पायलट से अधिक हैं। जब ये सेवा बैंगलोर में उपलब्ध थी तो ये प्रति किलोमीटर के लिये ₹3 लेते थे, ₹5 नहीं।

कंपनी ने राज्य में करीब $50 मिलियन का निवेश करने के लिये तेलंगाना सरकार से साझा किया था। उसके बाद, फ़रवरी में कंपनी ने हैदराबाद में एक उपभोक्ता सवा व ऑपरेशन केंद्र लांच किया था।

Uber के भविष्य को लेकर कलानिक ने कहा कि वो राज्यों को शहर में भीड़ व प्रदूषण कम करने के लिये सहयोग देंगे। उन्होंने जोड़ा:

कर्मचारियों के मामले में, हमारे पास हैदराबाद में सबसे बड़ी उपस्थिती है। हमारा उदिदेश्य शहर में भीड़ व प्रदूषण कम करना है।

खैर, UberMoto की सहायता से, कंपनी सस्ती दो-पहिया राइडें उपलब्ध करा कर एक नया रेवेन्यू स्त्रोत स्थापित करेगी और Ola की हाल ही में लांच हुई Micro और अन्य ऐसी सस्ती सेवाओं से प्रतिद्वंद करेगी।

UberMoto को पहली बार बैंकॉक में लांच किया गया था, और इस सेवा को प्राप्त करने वाला बेंगलोर दूसरा शहर था। उसके बाद, Ola ने भी एक समान सेवा लांच करी थी। परंतु कर्नाटक सरकार द्वारा कई परेशानियां लाने के बाद, दोनों कंपनियों को अपनी सबसे सस्ती सेवा बंद करनी पड़ी।

भारत में, UberMoto को Rapido, Bikxie, Baxi, M-Taxi व अन्य ऐसी सेवाओं के साथ प्रतिद्वंद करना होगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन