खबर भविष्यकाल स्टार्टअप्स

जनवरी तक के लिए फ़िर टला ‘SpaceX’ का अगला उड़ान संबंधी मिशन

एक बार फिर से SpaceX ने अपने अगले प्रक्षेपण की तारीख को आगे स्थानांतरित कर दिया है | 16 दिसंबर की एक अस्थायी प्रक्षेपण तारीख देने के बाद, अब इस निजी अंतरिक्ष उद्यम ने इसको स्थानांतरित करने का फ़ैसला लिया है | अब कंपनी का कहना है कि यह Falcon 9 उड़ान अब जनवरी के शुरूआती दिनों में संभव हो सकती है |

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बार कंपनी ने Iridium Communications की ओर से, कक्षा में 10 छोटे उपग्रहों को भेजने का मन बनाया है |

Iridium के पेलोड को ध्यान में रखते हुए दिसंबर महीनें को इस कार्य के लिए अनुसूचित किया गया था, लेकिन अघोषित कार्यक्रम के चलते, इसको एक बार फ़िर टालना पड़ रहा है |

देरी के मुद्दे पर सफ़ाई देते हुए, कंपनी का कहना है कि,

“ सुरक्षित रूप से आवश्यक अंतिम चरणों को पूरा करने और सुचारू उड़ान वापसी की प्रक्रिया को सुनिश्चित करने की वजहों से ऐसा किया जा रहा है ”  

अगर आप SpaceX को याद नहीं कर पा रहें हैं, तो हम आपको याद दिला दें कि यह वही कंपनी है, पिछले सितम्बर माह में जिसका Falcon 9 रॉकेट, लॉन्चपैड में ही विस्फ़ोट का शिकार हो गया था | तभी से कंपनी द्वारा दुर्घटना के संभावित कारणों की जांच की जा रही है और साथ ही इसके लांच क्षमताओं को वापस पटरी पर लाने की तैयारी भी जोरों से की जा रही है |

अगर हम यह भी मानें कि जनवरी तक SpaceX अपनी लॉन्च क्षमताओं को वापस हासिल करने में सफल हो जाती है, तो यह भी एक उल्लेखनीय उपलब्धि के रूप में दर्ज़ होगा |

ऐसा इसलिए भी है क्योंकि जब 2014 में Orbital ATK का Antares रॉकेट विस्फ़ोट का शिकार हुआ था, तब इस कंपनी को अपनी उड़ान क्षमताओं के प्रति वापसी करने में लगभग दो सालों का वक़्त लग गया था | साथ ही कई विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसे हालातों में सामान्य रूप से किसी भी कंपनी को 9-12 महीनों का वक़्त लग ही जाता है |

SpaceX एक उड़ान के लिए तक़रीबन 60 मिलियन डॉलर से भी अधिक चार्ज करता है | ऐसे में अगर एक और ऐसी दुर्घटना को जगह मिली, तो कंपनी को न सिर्फ़ अत्यधिक आर्थिक नुकसान झेलना पड़ेगा, बल्कि इसकी प्रतिष्ठा को भी गहरा झटका लगेगा |

SpaceX निश्चित रूप से यह नहीं चाहेगा, वह भी विशेष रूप से तब, जब यह NASA के मिशन के लिए उड़ान भरने के मकसद से, अन्य निजी अंतरिक्ष उपक्रम के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहा है |

यही कारण है कि कंपनी ने धीमें और स्थिर दृष्टिकोण को अपनाया है, और पूरी तरह सुनिश्चित होने पर ही, कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का फ़ैसला किया है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन