एप्पल खबर स्मार्टफोन्स

Apple का सबसे बड़ा उत्पादक, Foxconn करेगा US में विस्तार

An Apple logo hangs above the entrance to the Apple store on 5th Avenue in the Manhattan borough of New York City, July 21, 2015. REUTERS/Mike Segar/File Photo

Apple के डिवाइसों के सबसे बड़े उत्पादक, Foxconn Technology Group, US में विस्तार करने का विचार कर रहे हैं। इस चीनी कंपनी ने ये पुष्टी करी है कि उन्होंने US में विस्तार हेतु निवेश के लिये शुरवाती चर्चा करी है।

इस निर्णय के बारे में चर्चा करते हुए, Foxconn ने उक्त बयान जारी किया:

जहां इस संभावित निवेश का स्कोप निर्धारित नहीं हुआ है, वहीं हम अपने लीडरों व US के अधिकारियों की वार्ता पूरी होते ही हम घोषणा कर देंगे। अंतिम प्लान आपस में निर्धारित शर्तों के आधार पर ही बनेंगे।

Foxconn ने मुद्दे पर अधिक जानकारी नहीं बांटी, जो कि सभी के मुताबिक, दोनों Apple व उनके उत्पादक के लिये एक बहुत ही साहसिक कदम है। US में विस्तार करने के लिये वो कितना निवेश करेंगे, ये भी अभी अस्पष्ट है।

उत्पादक की ये घोषणा SoftBank के सी.ई.ओ. मासायोशी साओ के US के नव निर्वाचित राष्ट्रपती डॉनल्ड ट्रंप से मिलने के कुछ समय बाद ही आ गयी है। उन्होंने देश में $50 मिलियन का निवेश कर 50,000 नयी नौकरियां बनाने की घोषणा करी है। Bloomberg के मुताबिक, इस निवेश को कैश करने के लिये $100 मिलियन के तकनीक फ़ंड का प्रयोग किया जायेगा, जिसे अक्टूबर में स्थापित किया गया था।

Foxconn द्वारा जारी किये गये बयान को और भी हवा उस कागज़ात के स्नैपशॉट की उपलब्धी से मिली है, जो कि सोन के हाथों में देखा गया था। इस कागज़ात में SoftBank, Foxconn, $7 मिलियन के अतिरिक्त निवेश और 50,000 नयी नौकरियों को बनान के बारे में बात कही गयी थी। परंतु इसको लेकर अभी तक कोई पुष्टी नहीं हुई है।

ये घोषणा इससे पहले आई उस ख़बर के आधार पर थी, जिसमें Apple ने उत्पादकों को कहा था कि वे US में उत्पादन के अवसर तलाश करें। वे डॉनल्ड ट्रंप की लीडरशिप के अंदर आने वाले बदलावों को ध्यान में रख तैयारियां कर रहे हैं।

कथित रिपोर्ट के मुताबिक, Foxconn एक मात्र ऐसा Apple उत्पादक था, जिन्होंने इस निर्देश का पालन करने की सहमती दी थी। वहीं, कूपरटीनो कंपनी को दूसरे सबसे बड़े सप्लायर Pegatron ने ये स्थानांतरण करने से इनकार कर दिया था, क्योंकि इसमें पैसे बहुत लगते (जो कि Apple सी.ई.ओ. टिम कुक के विचार से अलग है, जो कहते हैं कि चीन में कौशल की उपलब्धता बाधित है)।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन