इलेक्ट्रानिक्स खबर

शोधकर्ताओं ने “सेकंड में चार्ज” होकर, “हफ़्तों चलने” वाली ‘बैटरी’ से कराया परिचय

आपके स्मार्टफोन की बैटरी आमतौर पर कितना चलती है ? मुश्किल से एक या दो दिन ? शायद मैंने ज्यादा बोल दिया | लेकिन अब University of Central Florida (UCF) के शोधकर्ताओं ने सफलतापूर्वक एक लचीले supercapacitors की ख़ोज की है, जो एक सामान्य लिथियम आयन बैटरी से, 20 गुना अधिक समय तक चल सकती है | इतना ही नहीं, इसको 30,000 गुनी अधिक रफ़्तार से चार्ज भी किया जा सकता है |

इस उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, UCF अनुसंधान में बतौर सहयोगी, नितिन चौधरी ने कहा,

“ अगर उपयोगकर्ता इस supercapacitors बैटरी का उपयोग करते हैं, तो वह मात्र कुछ सेकंड में अपने फ़ोन को चार्ज कर सकेंगे और साथ ही उनको अगले पूरे हफ्ते तक फ़ोन को चार्ज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी ”

आपकी जानकारी के लिए बता दें, यह supercapacitor, सामान्य लिथियम आयन बैटरी से इसलिए बेहतर हैं, क्योंकि यह रसायन शास्त्र के बजाय electrostatics सिद्धांत पर कार्य करती है | यह सतह पर चार्ज को एकत्रित करतें हैं | चार्ज के उत्पादन और संचालन के लिए इनको किसी भी प्रकार की रासायनिक प्रतिक्रियाओं की आवश्यकता नहीं होती है | लेकिन supercapacitors  सामान क्षमता वाली सामान्य बैटरी की तुलना में, आकार में बहुत बड़े हो सकतें हैं |

इसकी ख़ोज वैज्ञानिकों ने nanomaterials और ‘दो-आयामी’ शीट का उपयोग करके की है, जिनकी मोटाई कुछ परमाणुओं के बराबर ही है | यह इलेक्ट्रॉनों की एक बड़ी संख्या को कैद करने में सक्षम है |

इससे पहले, supercapacitor की इन दो आयामी परतों के एकीकरण की एक समस्या खड़ी हो गई थी | लेकिन UCF शोधकर्ताओं ने एक रासायनिक संश्लेषण के द्वारा इस समस्या का निवारण किया | उनकी इस टीम ने संग्रह सतह क्षेत्र और बैटरी की उम्र बढ़ाने के लिए graphene का उपयोग किया है |

UCF के एक सहयोगी प्रोफ़ेसर, Yeonwoong “Eric” Jung ने बताया कि टीम ने दो आयामी सामग्री के साथ नैनोमीटर तारों को लपेटकर, supercapacitors विकसित कियें हैं | यह एक उच्च प्रवाहकीय कोर की तरह कार्य करता है और तेजी से चार्ज होने और तेजी से इलेक्ट्रॉन हस्तांतरण जैसी सुविधा मुहैया करवाता है |

शोधकर्ताओं ने यह कहा कि यह सिर्फ़ supercapacitors के विकास की अवधारणा का सबूत है लेकिन अभी यह व्यावसायीकरण की दृष्टि से तैयार नहीं है |

वर्तमान में टीम फिलहाल, अपनी इस तकनीक को पेटेंट करवाने को लेकर प्रयासरत है | लेकिन जब भी यह तकनीक स्मार्टफोन की दुनिया में क़दम रखेगी, यकीन मानिए उसे एक नई क्रांति और तकनीक क्षेत्र में एक नए युग के आगमन के तौर पर देखा जाएगा |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन