इलेक्ट्रानिक्स एप्पल खबर स्मार्टफोन्स

Apple ने iPhone 6 Plus में “टच समस्या” की मरम्मत संबंधी कीमतें घटाईं

Apple के iPhone 6 Plus के लॉन्च के बाद से ही, इसमें मांग के साथ-साथ शिकायतों का भी सिलसिला बढ़ता गया | iPhone 6 Plus ने बहुत से मुद्दों पर लोगों को परेशान किया | उनमें से एक मुद्दा था, इसकी टच संबंधी समस्या |

जी हाँ ! लेकिन अब अपने अगले संस्करण के लॉन्च के बाद, Apple ने बड़ा क़दम लिया है | कंपनी ने अब iPhone 6 Plus उपकरण की टच संबंधी मरम्मत की कीमतों को घटाया है |

अगर आप इसके टच रोग के बारे में अधिक नहीं जानतें हैं, तो हम आपको बता दें कि इस उपकरण का टच रोग, टचस्क्रीन के झिलमिलाने सहित और भी कई मुद्दों को दर्शाता है | शुरू शुरू में उपयोगकर्ता इस समस्या को लेकर काफ़ी हैरान हुए, लेकिन समय के साथ यह पता लगा की यह समस्या सिर्फ़ एक या दो उपकरणों में नहीं हैं, बल्कि ऐसे कई उपकरणों में विद्यमान है |

Apple के अनुसार यह समस्या उपकरण कर गिरने के बाद आ रही है | कंपनी के अनुसार,

“ कई बार सख्त सतहों पर गिरने के कारण, स्क्रीन में ऐसा तनाव देखने को मिल रहा है ”

यह हमेशा से ही कंपनी का रवैया रहा है | इसके पहले भी, कंपनी अपने दोष हो, कई दफ़े दूसरों पर मढ़ चुकी है | लेकिन कुछ रिपोर्ट के मुताबिक, यह समस्या iPhone 6S Plus के मुड़ने से जुड़ी हुई है |

नए नियमों के तहत, टच रोग वाले फ़ोनों की $149 लागत से मरम्मत की जाएगी | इसके पहले आपको इसके लिया $300 तक चुकाने पड़ते थे | इसके साथ ही अगर आप पहले से ही अपने फ़ोन की स्क्रीन को पूरी राशि का भुगतान कर बदल चुके हैं, तो कंपनी मूल्य अंतर की प्रतिपूर्ति करने को भी तैयार है |

यह सुविधा केवल iPhone 6 Plus के लिए ही उपलब्ध है तथा अन्य iPhone 6 फ़ोन के संस्करणों के लिए यह लागू नहीं होगी | हालांकि अब कंपनी का पूरा ध्यान इसी चीज़ को लेकर है कि आगामी अन्य किसी संस्करण में कंपनी को ऐसी दिक्कतों का सामना न करना पड़े और ऐसी किसी समस्या की पुनरावृत्ति न हो |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन