एप्पल खबर मेक इन इंडिया

Apple भारत में निर्माण सुविधा खोलने के लिये प्रोत्साहन की तलाश में

भारी मांग और Make In India कार्यक्रम के चलते, अनेकों स्मार्टफ़ोन निर्माताओं ने अपने स्मार्टफ़ोनों का निर्माण भारत में करना शुरू कर दिया है। अब, कूपरटीनो की नामी कंपनी Apple भी ऐसी ही कंपनियों के गुट में आने वाली है। परंतु, कंपनी ने कुछ शर्तें सामने रखी है और इसी के लिये सरकार के प्रोत्साहन का इंतेज़ार कर रही है।

रिपोर्टों के मुताबिक, सरकार के साथ वार्ता में, Apple ने, रेवेन्यू डिपार्टमेंट व इलेक्ट्रॉनिक्स व इन्फ़ॉर्मेशन तकनीक डिपार्टमेंट (DeITY) से प्रलोभन की मांग रखी है। इसी पर बयान देते हुए, एक अधिकारी ने कहा:

वे कुछ समय से परिश्रम कर रहे हैं। हमने इंडस्ट्रियल पॉलिसी व प्रमोशन के डिपार्टमेंट (DIPP) को पत्र लिखे हैं और हम जल्द ही उत्तर में उनके विचारों की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

भारत सरकार के ‘Make In India’ के तहत, Huawei, Xiaomi, Vivo, Lenovo, Oppo, LG, Panasonic, Micromax आदि जैसी कंपनियों ने भारत में निर्माण शुरू कर दिया है। CyberMedia Research (CMR) के मुताबिक, ‘Make In India’ के अंतर्गत निर्मित फ़ोनों ने कंपनियों की 67% बिक्री का हिस्सा बनाया है।

इस समय भारत सरकार भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स के निर्माण को बढ़ावा देने हेतु मॉडिफ़ाइड विशेष प्रोत्साहन पैकेज स्कीम (MSIPS) के तहत कंपनियों को लाभ दे रही है। ये विकलांगता को घटाने और इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर क्षेत्र में निवेश को बढ़ाने हेतु वित्तीय प्रोत्साहन उपलब्ध करा रहे हैं।

Apple ने इससे पहले 30% स्थानीय सोर्सिंग नियम में सरकार से कुछ छूट देने का निवेदन किया था, जिसका कारण उन्होंने ये दिया था कि वे बहतरीन तकनीक से लैस अपने स्टोर को भारत ला रहे हैं। इस मुद्दे पर पहले जहां सरकारी पैनल ने हामी भरी थी, बाद में वित्त मंत्रालय ने इससे इनकार कर दिया।

हाल ही में पुनः बनी विदेशी सीधे निवेश (FDI) की पॉलिसी के साथ, कंपनी को तीन वर्ष की छूट मिल गयी, जिसे आगे और भी बढ़ाया जा सकता है।

जहां कंपनी के पास चीन, जर्मनी, US, UK व फ़्रांस जैसे देशों में पूरे मालकाना अधाकार वाले स्टोर हैं, उनके पास भारत में ऐसे स्टोर अभी नहीं हैं। इससे पहले उन्होंने Redington और Ingram Micro के साथ अपने प्रोडक्ट बेचने के लिये साझा किया था।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन