खबर स्टार्टअप्स

Uber और Indian Railways के बीच भागीदारी संभव, स्टेशनों पर देंगे टैक्सी बुकिंग की सेवा

अपने स्थानीय प्रतिद्वंद्वी Ola से आगे निकलने के इरादे से, अमेरिकी दिग्गज कंपनी, Uber अब ट्रेन से सफ़र करने वाले भारतीय लोगों पर ध्यान केंद्रित कर रही है | ETTech की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने Indian Railways से न सिर्फ़ उनके एप्लिकेशन और वेबसाइट के भीतर अपनी सेवाओं को एकीकृत करने के लिए संपर्क किया है, बल्कि स्टेशन से यात्रियों को जाने/ले जाने वाली एक उत्तम योजना का भी प्रस्ताव रखा है |

इस प्रस्ताव के साथ ही Uber देश में अपनी सस्ती टैक्सी सेवाओं का उपयोग करने के लिए, और अधिक उपयोगकर्ताओं को प्रेरित कर रहा है | व्यापक कार लीज़ कार्यक्रमों के साथ, अपनी तकनीक, यात्रा के अनुभव और साथी ड्राइवरों के उन्नयन के अलावा कंपनी ने देश में अपने विकास के लिए, अब इस वैकल्पिक मार्ग को भी अपनाने का सोचा है |

इस अमेरिकी दिग्गज़ कंपनी ने, टैक्सी बुकिंग काउंटर की स्थापना करने का भी मन बनाया है, ताकि प्रमुख स्टेशनों को रेखांकित कर, Uber से बुकिंग के लिए यात्रियों की सहायता की जा सके | IRCTC के भीतर अपनी टैक्सी सेवाओं के एकीकरण के अलावा, कंपनी ने भारतीय रेलवे के एप्लिकेशन को और अधिक उन्नत बनाने के लिए, तकनीकी सहायता प्रदान करने की भी पेशकश की है |

हालांकि अगर यह साझेदारी संभव रही, तो यह Uber और भारतीय रेलवे, दोनों के लिए एक जीत की स्थिति होगी | यह कैसे संभव है ?

वह ऐसे कि, नई इंटरसिटी के लाखों यात्री, Uber के उपयोगकर्ता आधार के तेज विस्तार के लिए अत्यंत उपयोगी साबित हो सकतें हैं | साथ ही, इस सौदे के माध्यम से, रेलवे भी अपने राजस्व को बढ़ावा दे सकेगा | इस साझेदारी को स्वीकृति मिलते ही, Uber को स्टेशनों पर प्रीमियम स्थान के साथ ही, भारतीय रेलवे को प्रत्येक बुक की गई सवारी के मुनाफ़े से कुछ हिस्सा देना होगा | यह रेलवे के लिए एक प्रमुख क़दम साबित हो सकता है और इसके राजस्व में 150 करोड़ रुपये सालाना का इजाफ़ा कर सकता है |

रेलवे बोर्ड के शीर्ष स्तर के एक अधिकारी कहते हैं,

“ हम गंभीरता से इस प्रस्ताव पर विचार कर रहें हैं और जल्द ही इस पर निर्णय लिया जा सकता है, Uber के साथ राजस्व मॉडल को अभी अंतिम रूप दिया जा रहा है ”

अभी तक इस साझेदारी के बारे में ज्यादा जानकारी सामने नहीं आ सकी है, लेकिन सूत्रों का सुझाव है कि Uber निश्चित रूप से द्वितीय श्रेणी की बजाए मेट्रो शहरों के रेलवे स्टेशन को पहले निशाना बनाएगा | हालांकि अभी तक स्टेशनों की संख्या के बारे में किसी भी पक्ष की तरफ से कुछ भी नहीं कहा गया है |

चीन से एक-दो महीने पहले कंपनी की विदाई के बाद से, अब Uber के संस्थापक और सीईओ, Travis Kalanick भारत में अपने संचालन को बढ़ावा देने के लिए अत्यधिक निवेश कर रहें हैं | 63 बिलियन डॉलर के मूल्यांकन की यह दिग्गज़ कंपनी, आने वाले महीनों में भारत को अपने कुल वैश्विक शेयर का, 12 प्रतिशत हिस्सेदार बनाना चाहती है | अपनी सेवाओं के दायरे को बढ़ाने और प्रतिस्पर्धा को खत्म करने के लिए, यह संभव साधनों पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन