खबर स्टार्टअप्स स्मार्टफोन्स

TRAI ने Reliance Jio को भारत में सबसे धीमा 4G नेटवर्क बताया, Jio ने किया इंकार

देश के सबसे बड़े दूरसंचार स्टार्टअप, Reliance Jio ने अपनी असीमित डेटा योजनाओं और अद्भुत सुविधाओं के चलते, लोगों के बीच हंगामा मचा रखा है | हाल ही में, यदि आप कभी भी, किसी Reliance Digital store के सामने से गुजरेंगे, तो वहाँ लगी लंबी कतार देखकर, आपको इस हंगामे का अंदाज़ा लग जाएगा | जहाँ लोग, 3 महीने के Welcome Offer के साथ, SIM पाने को जूझते मिलेंगे |

परंतु अब इतने अधिक लोगों के जुड़ने से पहले की तुलना में,  Jio के प्रदर्शन में ख़ासा अंतर देखने को मिल रहा है, और शायद यही कारण है कि भारत में यह सबसे धीमी 4G सेवा प्रदाता माना जा रहा है | यह आंकड़े, TRAI के हवाले से प्राप्त हुए हैं, जिन्होंने गुरुवार को अपनी एनालिटिक्स वेबसाइट पर, 4G नेटवर्क के गति परीक्षण संबंधी आंकड़े प्रकाशित किए हैं |

अपने लॉन्च के दौरान, Jio ने 135 GB की गति तक पहुँचने वाली 4G सेवा प्रदान करने का वादा किया था | हालांकि, यह वादा पूरा भी किया जा सकता था, अगर पिछले 2 महीनों के अंदर 25 मिलियन उपयोगकर्ता इससे न जुड़े होते | यह परिस्थिति और भी ख़राब होती जा रही है और अब लगभग हर कोई इसके डाउनलोड संबंधी, ख़राब प्रदर्शन की बात कर रहा है |

अगर आपको याद हो तो, हाल ही में ही TRAI ने अपनी गति परीक्षण करने वाली ऐप, ‘My Speed’ का लॉन्च किया था, जो की आईओएस और एंड्रॉयड दोनों के लिए समर्थित है | यह सुविधा आपको वेब पोर्टल पे तो मिल जाएगी, पर आप इसके माध्यम से खुद के कनेक्शन की गति का मापन नहीं कर सकतें हैं | यह सिर्फ़ देश भर में किए गये परीक्षण के एकत्र आंकड़ों का संलग्न मात्र है |

jio-1

TRAI के इन आंकड़ों के मुताबिक, Jio भारत का सबसे धीमा 4G नेटवर्क है, जिसकी औसत डाउनलोड और अपलोड गति क्रमशः 6.2 Mbps और 2.4 Mbps है | इस डाटा को देश भर में, नेटवर्क के लिए आयोजित 1.5 मिलियन से अधिक गति परीक्षण का उपयोग कर, संकलित किया गया है | हालांकि Airtel अपनी अद्भुत 11.4 Mbps की डाउनलोड गति के साथ पहले स्थान पर है |

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण द्वारा प्रदान किए गये इन निष्कर्षों का Ookla भी समर्थन करती है, जो कि interwebs में गति परीक्षण के लिए काफ़ी लोकप्रिय है |

नीचे दिखाए गए लाइन ग्राफ में यह साफ़ दर्शाया गया है कि हर महीनें 23% की गिरावट के साथ, Jio की गति 11.31 Mbps से 8.77 Mbps हो गई है | ये परिणाम, पिछले दो महीनों में किए गए, 8 मिलियन परिक्षणों के माध्यम से इकट्ठा किए गयें हैं |

1-oanvfzk7150qic58e10v0q

इस विषय पर Jio की सफ़ाई,

Reliance Jio के अध्यक्ष और संस्थापक, मुकेश अंबानी ने कथित तौर पर, भारतीय जनता को एक मजबूत 4G नेटवर्क प्रदान करने में अब तक 20 बिलियन डॉलर ख़र्च कर दियें हैं | तो हम यह कैसे सोच सकतें हैं कि वह मीडिया द्वारा लगाये जा रहे ऐसे आरोपों में शांत रहेंगे | Reliance Jio ने TRAI के परिणामों के बारे में Tech Portal के साथ विशेष रूप से एक बयान साझा किया है |

धीमें Jio नेटवर्क को लेकर, चारों ओर फैले कोलाहल पर टिप्पणी करते हुए, एक प्रवक्ता ने कहा,

“ अपनी एनालिटिक्स वेबसाइट पर TRAI द्वारा प्रकाशित आंकड़ों की तरह ही हमने खुद भी एक आंतरिक परीक्षण किया है, और साथ ही इस विश्लेषण के आधार पर, हमें विश्वास है कि Jio की किसी अन्य सेवा प्रदाता से तुलना करना, Jio data usag के खिलाफ़ सिर्फ एक अंतर्निहित पूर्वाग्रह है ”  

एक प्रवक्ता ने आगे कहते हैं कि Jio Welcome ऑफर के तहत, उपयोगकर्ताओं को दैनिक रूप से 4G नेटवर्क पर 4 GB डेटा उपलब्ध कराया जा रहा है | हालांकि इस सीमा पर पहुँचने के बाद भी, उपयोगकर्ता 256 kbps की स्पीड पर असीमित डेटा का उपयोग कर सकतें हैं | इसके माध्यम से हम अपने सभी उपयोगकर्ताओं को एक हद तक शानदार सुविधा देने में सक्षम हो सकें हैं |

हमने देखा है कि इसी प्रकार एक बार FUP[fair usage policy] भी गति परीक्षण के कुछ अव्यवस्थित आंकड़ो के साथ सामने आई थी | ऐसा इसलिए क्योंकि इन परीक्षणों में अधिकतर उपयोगकर्ता तब तक शामिल नहीं होतें हैं, जब तक वह ख़ुद गति संबंधी दिक्कतों का सामना नहीं करते | और ऐसे उपयोगकर्ता उचित स्पीड आने के बाद भी, इन परीक्षणों का हिस्सा बने रहतें हैं |

FUP द्वारा, इस गति परीक्षण का एक बड़ा हिस्सा तब किया गया जब Jio ने कुछ दैनिक सीमा के बाद अपनी गति 256kbps कर दी थी | इससे 4G LTE स्पीड का आनंद लेने वाले लोगों के अच्छे अनुभवों में ख़ासी कमी आई थी |

TRAI और OOKLA द्वारा प्रदान किए गये आंकड़े थोड़े हास्यपद हैं, क्योंकि यह पक्षपातपूर्ण और वास्तव में पूरी तरह से सच नहीं हैं | दरअसल दैनिक सीमा खत्म होने के बाद जब उपयोगकर्ताओं को वही 4G वाली डाउनलोड स्पीड मुहैया नहीं हो पाती, तब वह ऐसे परीक्षणों को आजमातें हैं |

लेकिन क्या, Jio आने वाले समय में भी, अपने गर्ववान्वित पलों को बनाये रखने में सक्षम होगा, यह देखना अभी बाकि है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन