खबर स्टार्टअप्स

MakeMyTrip और ibibo Group का होगा विलय, दिसंबर से एक नई शुरुआत की उम्मीद

यदि आपने कभी भी किसी यात्रा संबंधी योजना बनाई है, तो आपने शायद ऑनलाइन ट्रैवल बुकिंग प्लेटफार्मों में अग्रणी, MakeMyTrip और ibibo का नाम सुना ही होगा | खैर, अब इन दोनों भारतीय दिग्गजों ने, MMYT की umbrella ब्रांड के तहत, एक साथ काम करने का फ़ैसला किया है | यह निर्णय शायद, भारत में सबसे बड़े ऑनलाइन ट्रैवल बुकिंग प्लेटफॉर्म के निर्माण में मदद करेगा | हालांकि, दिसंबर 2016 के अंत तक, इस विलय के पूर्ण होने की उम्मीदें हैं |

MakeMyTrip पहले से ही, एक मजबूत और भरोसेमंद यात्रा सेवा प्रदाता है, लेकिन इस सौदे के पूरे होने से, यह और भी नई और शानदार सेवाओं से लैस नज़र आएगी | इन सेवाओं में Goibibo, redBus, Ryde और Rightstay सहित, तेजी से बढ़ रहे उपभोक्ता पर्यटन ब्रांड, शामिल होंगे | पूरक सेवाओं के सम्मलित होने से, यह प्लेटफ़ॉर्म और अधिक मजबूत और समृद्ध बन सकेगा |

दो तेज़ी से बढ़ते कारोबारों के विलय पर, ख़ुशी जाहिर करते हुए, MakeMyTrip के अध्यक्ष और ग्रुप के सीईओ, ‘दीप कालरा’ ने कहा,

“ आज की यह घोषणा, भारत में तेजी से बढ़ रहे यात्रा उद्योग के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है, हम इस सौदे में विकास के साथ ही,  विशेषज्ञों की मदद से, भारतीय यात्रियों के लिए बुकिंग के अनुभव को बदलने से जुड़े प्रयास भी करेंगे, मुझे इस गतिशील उद्योग के आने वाले अगले अध्याय में, एक मजबूत टीम का नेतृत्व करने पर ख़ुशी होगी ”  

MakeMyTrip के सह-संस्थापक और भारतीय सीईओ, ‘राजेश मागो’ ने भविष्य को लेकर उत्साह दिखाते हुए कहा,

“ हम नई ibibo टीम का, अपने MakeMyTrip के परिवार में स्वागत करतें हैं, इन दोनों उद्यमों के संयोजन से , ग्राहक वरीयताओं की गहरी समझ के साथ, उपयोगकर्ताओं को एक बेहतर सेवा प्राप्त हो सकेगी और सभी कर्मचारियों को कैरियर के विकास के अवसर भी मिल सकेंगे ”

ibibo समूह, सह-संयुक्त रूप से Naspers और Tencent द्वारा संचालित किया जाता है, जो क्रमशः 91 प्रतिशत और 9 प्रतिशत कंपनी स्वामित्व के दावेदार हैं | इन्होनें एक साथ, नए शेयर संबंधी हिस्सेदारी के बदले, MakeMyTrip को अपनी पूरी पुरानी हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है | इस सौदे के समापन के बाद, MakeMyTrip की ibibo समूह में 100 फीसदी हिस्सेदारी होगी, जबकि Naspers और Tencent, MMT में सबसे बड़े शेयरधारक बन जायेंगे | साथ में यह दोनों,  करीब 40 फीसदी के हिस्सेदार होंगे, और आनुपातिक कार्यशील पूंजी में भी योगदान देंगे |

इस सौदे के पहले, MakeMyTrip Limited द्वारा अपने निवेशक, Ctrip.com International को 180 मिलियन अमेरिकी डॉलर का 5 साल का परिवर्तनीय नोट जारी किया गया है | साथ ही यह लिमिटेड से एक common equity बन जाएगा | इसके बाद Ctrip भी इस संयुक्त MakeMyTrip इकाई में लगभग 10 फीसदी का हिस्सेदार होगा |

इस विलय पर ख़ुशी जताते हुए, ibibo समूह के सीईओ, आशीष कश्यप ने कहा,

“ जब से मैंने, 2007 में ibibo को स्थापित किया है, हमनें तभी से भारत में अग्रणी यात्रा कंपनियों में से एक बनने की कोशिशें कीं हैं, और यात्रियों के साथ ही, आपूर्तिकर्ताओं का भी पूरा ध्यान रखा है, दीप, राजेश और मैंने इस फैसले को एक बड़े अवसर के रूप में देखा है, साथ ही, मैं इस पर भी उत्साहित हूँ कि इस विलय के बाद, हम भारत में प्रमुख पर्यटन-समूह के रूप में एक शानदार यात्रा अनुभव देनें में सक्षम होंगे ”

Naspers के सीईओ, Bob van Dijk के अनुसार,

“ भारत Naspers के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार है, ibibo और MakeMyTrip, प्रौद्योगिकी के अपने अभिनव प्रयोग के माध्यम से, भारत भर में यात्रा करने वाले लोगों को असाधारण अनुभव देनें में अग्रणी रहीं हैं, आज की यह घोषणा दीप, राजेश, आशीष और उनकी टीमों की, निरंतर महत्वाकांक्षा को रेखांकित करती है, और मैं इस नए मजबूत व्यापार के भविष्य को सफलता से भरा हुआ देखता हूँ ”

इस सौदे को बिना किसी दिक्कतों के पूर्ण करने के लिए, MakeMyTrip ने  Morgan Stanley को विशेष वित्तीय सलाहकार तथा Latham और Watkins,  S&R Associates और Appleby को कानूनी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया है |

वहीं ibibo और Naspers ने विशेष वित्तीय सलाहकार के रूप में Goldman Sachs का चुनाव किया है, जबकि Cravath, Swaine & Moore, Trilegal और BLC Roberts को कानूनी सलाहकार बनाया गया है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन