खबर सैमसंग स्मार्टफोन्स

Samsung ने Tizen OS आधारित गेम बनाने के लिए, प्रतियोगिता की शुरु

अगर आप Samsung के प्रशंसकों ( Note 7 की असफ़लता से बाद भी ) में से हैं, तो आपने निश्चित रूप से ‘Tizen’ के बारे में सुना ही होगा |  यह Samsung का द्वितीय मल्टी-प्लेटफ़ॉर्म OS है, जो $100 तक के बजट वाले स्मार्टफोन और smartwatches में उपलब्ध होता है | लेकिन वास्तव में यह बाज़ार में उतनी पहचान नहीं बना सका है, जितना कंपनी ने उम्मीद की थी |

पिछले साल, Samsung ने 182 देशों में एक वैश्विक Tizen store की शुरुआत की थी, लेकिन फिर से आवश्यक ऐप और गेमों के अभाव के कारण, यह लोगों के बीच उतना लोकप्रिय साबित नहीं हो सका था | इसी के चलते अब कंपनी ने ‘Tizen app challenge’ की शुरुआत की है, जिसमें कंपनी डेवलपर्स को मौद्रिक पुरस्कार के बदले, इस OS के लिए गेम बनाने को प्रेरित कर रही है |

इस Tizen challenge में वह सभी वैश्विक डेवलपर्स भाग ले सकतें हैं, जिन्होंने पहले से ही Android या iOS के लिए लोकप्रिय गेमों का निर्माण किया हो | डेवलपर्स के शानदार पूर्वनिर्मित गेमों के डाउनलोड के आंकड़े 10,000 से अधिक होने चाहिए |  Samsung अब, इन डेवलपर्स के माध्यम से, अपने बहुत से गेमों को ‘Tizen OS’ के लायक बनाकर, Tizen store में बेचने की तैयारी कर रहा है |

मौद्रिक लाभ के संदर्भ में Samsung, वैश्विक Tizen Store में सबसे पहले अपने गेम की उपस्थिति दर्ज़ करवाने वाले, शुरू के सभी पचास डेवलपर्स को प्रत्येक रूप से $3,000 देने की पेशकश कर रहा है | हालांकि सबसे ज्यादा install होने वाले गेम को, $20,000 का एक भव्य पुरस्कार प्राप्त होगा, जबकि द्वितीय और तृतीय स्थान के विजेताओं को क्रमशः $10,000 और $5,000 का पुरस्कार दिया जाएगा | इसका मतलब है कि पुरस्कार के तौर पर Samsung कुल $185,000 की राशि का भुगतान करेगा |

Samsung ने हमेशा से linux आधारित प्लेटफ़ॉर्म को, Android और iOS के विकल्प के तौर पर पेश किया है, लेकिन ऐप स्टोर के मामले में, यह ग्राहकों को संतुष्ट नहीं कर पाया है | और यही वह प्राथमिक समस्या यह है, जिसे यह कोरियाई कंपनी, इस ‘Tizen app challenge’ के माध्यम से दूर करने की कोशिशों में है, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि क्या सच में वह ऐसा कर पायेंगे? Microsoft और Blackberry पहले ही, एक नए मोबाइल पारिस्थितिक तंत्र के प्रचलन के प्रयासों में विफ़ल हो चुकें हैं |

कंपनी ने सबसे पहले भारत में Tizen संचालित, सस्ते smartphones की शुरूआत की थी और साथ ही इसकी बिक्री और एप्लिकेशन डाउनलोड संख्या, देश में सर्वाधिक रही थी | भारत, स्मार्टफोन और इंटरनेट के क्षेत्र में एक उभरते बाज़ार की तरह है, जहाँ हर कोई इसका हिस्सा बनता जा रहा है | इसलिए Samsung शायद भारतीय जनता के बीच, अपने ऐप स्टोर को प्रभावशाली बनाने के, व्यापक प्रयास कर रहा है |

VentureBeat के डीन ताकाहाशी से बातचीत में, कंपनी के ग्लोबल पार्टनर प्रबंधक, रवि बेलवाल ने कहा,

“ हमें लगता है कि भारत में बाजार खेलों के लिए परिपक्व है और हम इसे साबित करना चाहते हैं, यह एक उभरता हुआ बाजार है, ऐसे बाज़ारों में हमारी यह कोशिश एकदम नई है, Samsung ने भारत के आधे स्मार्टफोन बाज़ार पर अपनी पकड़ बना रखी है, और हमारी वृद्धि दर भी काफ़ी अच्छी है ”    

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन