खबर

Yahoo के विवादों के चलते, Verizon अब कर रहा, तय सौदे में से $1 बिलियन की रक़म कम करने की तैयारी

अगर आप इस ख़बर से अनजान हैं तो हम आपको बता दें कि अपनी वर्तमान स्थिति के चलते अब Yahoo ख़ुद के लिए एक सुरक्षित हाथ तलाश रहा है | और इसकी तलाश को खत्म करते हुए, Verizon ने अब, इस सर्च और ईमेल की सुविधा प्रदान करने वाली विशालकाय कंपनी को, $4.83 बिलियन में अधिग्रहित करने की योजना बनाई है | लेकिन हाल ही में हुई घटनाओं के कारण अब Verizon अधिग्रहण राशि से $1 बिलियन की रक़म, कम करने पर विचार कर रहा है |

पिछले कुछ सप्ताह Yahoo के लिए काफ़ी ख़राब साबित हुए | सबसे पहले तो इंटरनेट में इस ख़बर की पुष्टि हुई कि कथित तौर पर साइबर अपराधियों ने इसके डाटा सर्वर से छेड़छाड़ की है और फिर इसी के साथ इस प्रक्रिया में 500 मिलियन से अधिक खातों के हैक किए जाने की भी बात सामने आई |

यह बात इतने तक ही नहीं रुकी, इसी के साथ यह भी ख़बर सुर्ख़ियों में रही कि अब Yahoo ने अपने सभी ईमेल खातों पर हर समय निगरानी रखना शुरू कर दिया है | हालांकि Yahoo ने इस ख़बर का खंडन करते हुए, इस बात को सिरे से नकार दिया | माना यह जाता है कि, कंपनी की सीईओ, मारिसा मेयर ने, अमेरिका के खुफिया अधिकारियों के अनुरोध पर ऐसा किया | उन्होंने अपनी इंजीनियरिंग टीम को निर्देश दिए कि वह एक ऐसा तरीका इज़ाद करें ताकि हर मेल में, एक विशेष रूप के टैग को खोज़ा जा सके |

न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, ऊपर उल्लिखित कारणों के कारण अब Verizon अधिग्रहण की दिशा में लंबित बिल में से $1 बिलियन तक की छूट के लिए Yahoo को प्रेरित कर रहा है |  ऐसा माना जा रहा है कि AOL के सीईओ टिम आर्मस्ट्रांग, Yahoo के इन विवादों को लेकर काफ़ी परेशान हैं और अब वह कंपनी पर, सौदे की तय रक़म में से, $1 बिलियन की छूट देने का दबाव बना रहें  हैं, अन्यथा वह सौदे से पीछे भी हट सकतें हैं |

 “हाल ही में हमने सुना है कि टिम आर्मस्ट्रांग अब इसको लेकर थोड़े व्यथित नज़र आ रहें हैं और उन्होंने Yahoo के वर्तमान विवादों को ध्यान में रखते हुए, इन सबसे बाहर निकलने या फिर कीमत को कम करने पर विचार किया,  

Yahoo से छूट की बात इसलिए कही जा रही है क्यूंकि ऐसा माना जा रहा है कि इन विवादों से बाज़ार में, कंपनी का मूल्यांकन कम हुआ है”

– मामले की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने कहा,

अभी Verizon और Yahoo की क़ानूनी टीम के बीच बातचीत का सिलसिला चल रहा है, जिसमें जहाँ एक तरफ़ Verizon सौदे में छूट की बात पर अड़ा हुआ नज़र आ रहा है, वहीं दूसरी ओर Yahoo भी पूर्वनियोजित सौदे पर ही कायम रहना चाहता है |

अब मानों ऐसा लगता है कि Verizon इस सौदे को लेकर बहुत परेशान हो गया है और अभी तक अंतरिम बातचीत के दौर में भी कुछ स्पष्ट  नज़र नहीं आ रहा है | अब देखना यह है कि Verizon कैसे एक धूमिल कंपनी की छवि को साफ़ करते हुए, सौदे को अपनी शर्तों पर पूरा करवाता है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन