खबर माइक्रोसॉफ्ट

अब 400 मिलियन उपकरणों पर विंडोज 10 हो रहा है इस्तेमाल: माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम के इस्तेमाल को लेकर, नए आंकड़े दुनिया भर के सामने प्रस्तुत कियें हैं | कंपनी के अनुसार, यह ऑपरेटिंग सिस्टम अब दुनिया भर में 400 मिलियन उपकरणों पर स्थापित किया जा चुका है |

हालांकि यह संख्या, माइक्रोसॉफ्ट के 1 अरब डिवाइस के लक्ष्य से काफी कम है, लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि कुछ महीने पहले मुफ़्त अपडेट प्रस्ताव को हटाने के बाद भी, विंडोज 10 उपयोगकर्ता की संख्या में बढौतरी देखी जा रही है |

विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्यरत 400 मिलियन उपकरणों की संख्या में विंडोज 10 पीसी, टैबलेट, स्मार्टफ़ोन्स, एक्सबॉक्स, HoloLens और  Surface Hubs जैसी डिवाइस शामिल हैं | इसके बावजूद कंपनी इस बढौतरी की दर को कम मान रही है |

‘विंडोज 10’ जुलाई 2015 में जारी किया गया था और इसी के साथ माइक्रोसॉफ्ट ने 2018 तक एक अरब उपकरणों में इसको स्थापित करने के अपने महत्वाकांक्षी लक्ष्य की घोषणा की थी | विंडोज 7 और 8 दोनों की खूबियों के साथ यह नया ऑपरेटिंग सिस्टम Cortana और एज ब्राउज़र के रूप कुछ नए फीचर भी समेटे हुए है और यह पीसी के साथ ही साथ स्मार्टफ़ोन्स के लिए भी एक बेहतरीन विकल्प साबित होते दिख रहा है |

कंपनी ने शुरू में विंडोज उपयोगकर्ताओं के लिए इस ऑपरेटिंग सिस्टम को एक मुफ़्त अपडेट की तरह पेश किया था | गौरतलब है कि इसके उपयोगकर्ताओं की इतनी तेज वृद्धि दर का अंदाज़ा खुद कंपनी को नहीं था |

मार्च, 2016 तक इसके उपयोगकर्ताओं की संख्या 207 मिलियन तक जा चुकी थी और कंपनी ने जब जुलाई के बाद से उपयोगकर्ताओं को इसके लिए चार्ज करना शुरू किया तब भी इसके उपयोगकर्ताओं की संख्या में इजाफ़ा ही देखने को मिला और यह संख्या मई में 300 करोड़ तक पहुँचती दिखी | कंपनी ने जून के अंत तक 50 लाख और उपयोगकर्ताओं को अपने साथ जोड़ा |

29, जुलाई 2016 को अपने मुफ़्त अपडेट के प्रस्ताव को खत्म करने के बाद उपयोगकर्ताओं की वृद्धि दर थोड़ी कम जरुर होती नज़र आई पर यह थमीं नहीं | विंडोज 10 के विभिन्न संस्करणों के लिए 100 डॉलर से अधिक की कीमत के साथ कंपनी को अगले 50 लाख लोगों को जोड़ने में 3 महीनों का वक़्त लगा |

माइक्रोसॉफ्ट भी अब 2018 तक 1 अरब उपकरणों पर विंडोज 10 को स्थापित करने के अपने लक्ष्य को दोहराने से बचती नज़र आ रही है | अब कंपनी का इसको लेकर आलम यह है कि, “हम किसी न किसी दिन इस लक्ष्य को जरुर हासिल करके दिखायेंगे

वास्तविक्ता से परे, इस लक्ष्य रूपक भविष्यवाणी का कुछ ज्यादा ही आशावादी होना, इसकी विफलताओं के कारणों में से एक माना जाता है | इसके साथ ही अचानक मुक्त से बढकर इसका मूल्य 100 डॉलर हो जाना भी इसका एक कारण है |

यह भविष्यवाणी कंपनी द्वारा नोकिया के अधिग्रहण के बाद नए स्मार्टफ़ोन्स निकालने जैसी कोशिशों को भी आधार बनाकर की गई थी |

हालांकि, भारी घाटे के बाद कंपनी ने हाल ही में जिस नोकिया डिवाइस को लॉन्च किया है, वह खुद कंपनी की उम्मीदों का उपहास करती नज़र आ रही है | इसके बाद अब अपने स्मार्टफ़ोन्स की वृद्धि जैसी उम्मीदें भी कंपनी के लिए बेईमानी साबित हो रहीं हैं |

हालांकि इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि विंडोज 10 अपने पहले के रूप विंडोज 7 की तरह ही उपयोगकर्ताओं के बीच काफी लोकप्रियता हासिल कर रहा है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन