खबर

भारतीय उपभोक्ताओं को लुभाने के लिये Uber ने अपना पहला ब्रांड कैंपेन किया लांच

अमेरिका की $63 बिलियन की कैब सेवा Uber, भारत में तीन साल की उपस्थिती के बाद Ola Cabs को कड़ा प्रतिद्वंद देने और उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिये तैयार हो रही है। हालाकि इससे पहले उन्होंने कभी कोई प्रचार नहीं किया, परंतु अब, अपने नये कैंपेन ‘Move Forward’ के साथ सामने आकर उन्होंने हमें चौंका दिया है।

प्रचार एजंसी BBH भारत द्वारा डिज़ाइन किये गये कैंपेन के लिये सच्ची चालक साझेदार और यात्रियों की कहानियों से प्रेरणा ली गयी है। इससे Uber ब्रांड की बहतर मान्यता को प्राप्त करने का प्रयास किया गया है और इसमें दिखाया गया है कि कैसे Uber चालक साझेदारों को बहतर जीवन जीने में सहयोग देती है।

कैंपेन में Uber कैब सेवा अपनाने के लाभों को दर्शाने की जगह, कैसे इन्होंने एक चालक की परेशानियां दूर करी, वो दिखाया गया है। इस कहानी को ऐसे गढ़ा गया है कि ये ज़रूर आपको आकर्षित करेगी। इससे मिलियनें चालकों (और यात्रियों) को साथ ‘प्रगति’ को दोहरा संदेश पहुंचाया जा रहा है। ये हाल ही में आये Ola के सेक्सिस्ट प्रचार से अलग है, जिसमे उनके कम किरायों को ही केंद्र बनाया गया है।

प्रचार में एक चालक को दिखाया गया है, जो कि एक छोटी बच्ची को एक अंग्रेज़ी विद्यालय में छोड़ रहा है। आगे कहानी में हमें पता चलता है कि वो चालक दरसल उस बच्ची का पिता है, जो कि अपनी बेटी को छोड़ने के बाद अपने चालक साझेदार के कार्य पर लग जाता है। परंतु इस कैंपेन का मुख्य मुद्दा है कि Uber ने अपने चालक साझेदारों का जीवन इतना बहतर कर दिया है कि वे अपने बच्चों को अंग्रेज़ी स्कूलों में शिक्षा उपलब्ध कराने की क्षमता रखते हैं।

अपने पहले प्रचार के लांच के बारे में Uber भारत के जनरल मैनेजर अश्विन दास ने कहा:

“हमें लगा कि भारत में हमारी तीसरी वर्षगांठ हमारा पहला प्रचार कैंपेन शुरू करने के लिये बहुत ही सही मौका होगी। हम इससे चालक साझेदारों और यात्रियों दोनों तक पहुंचना चाहते हैं, परंतु मुख्यतः यात्रियों तक।

Uber में हम चालक साझेदारों की जीवनी का स्तर उठाने और यात्रियों को सुगम यात्रा उपलब्ध कराने कि ओर केंद्रित हैं। इस ब्रांड कैंपेन में, हमने ऐसी कहानियों के साथ अपने ब्रांड में जान फूंकी है, जो कि मिलियनों भारतियों में गूंजती रहती हैं।”

उन्होंने आगे जोड़ा कि ‘Move Forward’ कैंपेन एक अनेक मंचों पर आने वाला कैंपेन होगा, और डिजिटल मंचों, प्रिंट और पबलिक क्षेत्रों में होर्डिंग तक में होगा। ये दो मिनट की भावपूर्ण कहानी के साथ, Uber यात्रियों और चालकों, दोनों के बीच ही अपनी उपस्थिती बहतर करने का प्रयास करेगी। इससे उन्हें हाल ही में हो रही लाइसेंसिंग व सर्ज दामों को लेकर जो सराकर के साथ परेशानियां हैं, उनसे जूझने में भी सुविधा होगी।

इतना आकर्षित करने वाले प्रचार के बारे में BBH India के MD, अर्विंद कृष्णन ने कहा:

“Uber हमारे पास एक बहुत ही स्पष्ट चुनौती के साथ आयी थी: एक ऐसा कार्य करना, जो Uber के प्रति सच्चा हो, परंतु अडॉप्शन में भी कदम बदले। टेस्ट भारत में Uber को पहला कैंपेन है, तो हम चालक और यात्री, सभी स्टेकहोल्डरों के पास जाना चाहते हैं। ये एक महीने लंबा प्रयास है और इसकी जानकारी धीरे-धीरे उजागर करी जायेगी।”

चीन से अपनी निकासी के बाद से, ये कैब सेवा भारत व दक्षिण पूर्वी एशिया पर ध्यान दे रही है। ये इन बाज़ारों में लीडर बनने के लिये अपने बटुए से बहुत सा पैसा खर्च कर रहे हैं। हाल ही में, इनके दक्षिण पश्चिमी एशिया के प्रतिद्वंदी Grab को $3 बिलियन के वैल्युएशन पर SoftBank से निवेश में $750 मिलियन प्राप्त हुए हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन