खबर स्टार्टअप्स

Villgro ने दिल्ली में सोशल उद्यम को बढ़ावा देने के लिये अपने ‘अलग’ कार्यक्रम की घोषणा करी

सोशल उद्यम कॉन्फ्रेंसें प्रोफ़ेशनलों को लिये सीखने का एक बहुत अच्छा अवसर होती हैं। इसी पर ध्यान देते हुए, British Council, Villgro और TiE Delhi ने Unconvention Delhi की घोषणा करी है, जो कि एक वार्षिक सोशल कान्फ़्रेंस है, जिसका उद्देश्य दिल्ली व पूरे भारत के उद्यमियों को खोज कर उन्हें बढ़ावा देना होगा। ये 9 सितंबर को British Council Division में आयोजित होगी। Unconvention Delhi, Villgro द्वारा आयोजित कराये जाने वाले आठ इवेंटो का हिस्सा है। 2012 से, Villgro ने भारत के 22 शहरों में 43 Unconventional कार्यक्रम आयोजित किये हैं, जिनमें 60+ साझेदारों, 4000+ हिस्सा लेने वालों और 40+ पिच विजेताओं ने भाग लिया और इनमें ₹30 लाख से भी ऊपर पुरस्कार के रूप में दिया जा चुक हैं।

“सपोर्ट करने के लिये इनोवेटिव व्यापारों की खोज कर रहे इंपैक्ट निवेशकों और हमारे जैसे इंक्यूबेटरों के कारण भारतीय सोशल इंटरप्राइज़ लैंडस्केप बहुत तेज़ी से वृद्धी कर रहा है। भारत में पहले ही एक बहुत बढ़िया स्टार्टप कल्चर है, और Unconvention के साथ, हम उसे फलते सोशल एंटरप्राइस स्टार्टप कल्चर में परिवर्तित करना चहाते हैं।”

Villgro भारत के प्रेज़िडेंट पी.आर. गणपती ने कहा।

इस कार्यक्रम में पुरस्कार समारोह भी होगा, जिसमें दिल्ली के ऐसे स्टार्टपों को पुरस्कार दिये जायेंगे, जो कि कुछ सोशल प्रभाव डाल रहे हों। विजेता को ₹1 लाख की कैश ग्रांट मिलेगी, और स्टार्टप को Villgro द्वारा इंक्यूबेट होने का अवसर भी मिलेगा, जिसमें मेंटरिंग, नेट्वर्क और ₹65 लाख तक का निवेश शामिल है।

हिस्सा लेने वालों को कीनोट वक्ता मनीष सिसोदिया (दिल्ली के डेप्युटी मुख्य मंत्री), वेंकटेश मलुर (Sampark Foundation, प्रेज़िडेंट), पॉल बेसिस (Villgro और Menterra), गीता गोयल (Mission Investing, Michael & Susan Dell Foundation के निदेशक) व अन्य से सुनने मिलेगा। सपोर्ट का एक ईकोसिस्टम खोजने के लिये उद्यमी निवेशकों, इंक्यूबेटरों व अन्य स्टेकहोल्डरों के साथ नेट्वर्क भी कर सकते हैं।

Villgro Innovations Foundation भारत के सबसे पुरानी और सर्वप्रथम सोशल एंटरप्राइज़ इंक्यूबेटरों में से एक है, जो कि इनोवेटरों और सोशल उद्यमियों को उनके शुरवाती चरण में सपोर्ट करते हैं। 2001 से, Villgro ने 119 ऐसी एंटरप्राइज़ों को इंक्यूबेट किया है, 4000 के करीब नौकरियां बनायी हैं, फ़ॉलो ऑन निवेश में ₹1195 मिलियन प्राप्त किये और करीब 15 ग्रामीण जीवनों को छुआ है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन