ई-कॉमर्स खबर

Snapdeal को अभी के वैल्युएशन पर उनके चल रहे निवेश सत्र में $21 मिलियन

ई-कॉमर्स क्षेत्र में निवेश इस वर्ष धीमा हो रहा है। जहां Flipkart अंदरूनी बदलावों, निवेशकों द्वारा मार्कडाउन और कर्माचारियों की निकासी से जूझने में व्यस्त हैं, Snapdeal ने इस बार कुछ बहतर उपस्थिती दर्ज करी है। फ़रवरी में $200 मिलियन का निवेश प्राप्त करने के बाद, Snapdeal की अभिभावक कंपनी Jasper Infotech ने इस कोष में $21 मिलियन और जोड़े हैं।

एक ET रिपोर्ट में कहा गया कि कंपनी को लक्ज़ंबर्ग के एक निवेशक Clouse SA से $21 मिलियन का निवेश प्राप्त हुआ है। उन्होंने कंपनियों के रजिस्ट्रार के पास दिये गये कागज़ों का हवाला दिया। उन्होंने बताया कि ये निवेश फ़रवरी से चल रहे Snapdeal के जे सत्र का ही हिस्सा है।

ये ध्यान में रखने की बात है कि कंपनी ने ये निवेश अपने $6.5 के वैल्युएशन पर ही जुटाये हैं। ये कंपनी के लिये राहत की बात है, क्योंकि खबरें थीं कि Snapdeal और Flipkart को इस वर्ष अच्छे से कार्य कर पाने को लिये बहुत नीचे जाना होगा।

कंपनी के एक वक्ता ने उस खबर की पुष्टी करते हुए ये बयान दिया:

“पुराने वैल्युएशन पर निवेश जुटाना Snapdeal के अच्छे प्रदर्शन की गवाही देता है, और साथ ही, उच्चतम उपभोक्ता अनुभव और कुल रेवेन्यू में बढ़ती ग्रोथ जैसे मज़बूत मूलों के आधार पर एक बहुत लंबे समय तक चलने वाला व्यापार बनाने का भी।”

संभवतः स्टार्टपों के लिये सूखते निवेशों के बारे में उन्होंने कहा कि निवेशक अब असली प्रदर्शन पर ही व्यापारों में निवेश करने के विचार में हैं। उन्होंने ये भी कहा कि भारतीय बाज़ार में डिजिटल कॉमर्स कि ओर बहुत से निवेशक केंद्रित हैं।

फ़रवरी में Brother Fortune Apparel के बाद Clouse SA, Snapdeal के निवेशकों की सूचि में नवीनतम नाम बन गये हैं। ये ज्ञात हो कि इस सत्र में Brother Fortune Apparel अनेक चीनी HNIयों का प्रतिनिधित्व करते हैं और उन्होंने Bennet, Coleman & Co. Ltd. (BCCL) और Ontario Teachers’ Pension Plan के साथ इस सत्र में हिस्सा लिया।

हम ये कह सकते हैं कि Snapdeal के लिये ये निवेश बिलकुल सही समय पर आया है। त्योहार का मौसम दस्तक दे रहा है और सभी ई-कॉमर्स कंपनियां इसका अधिकतम लाभ उठाने के लिये तैयार हो रही हैं। ये नया कैश फ़्लो इस तैयारी को बहुत हद तक प्रभावित कर सकता है।

दिवाली का अधिकतम लाभ उठाने के लिये, Snapdeal ने एक 360 डिग्री प्रचार कैंपेन हेतु अपने पास से ₹200 करोड़ खर्च करने की बात कही है। कैंपेन आने वाले पूरे दो महीनों तक चलेगा और दिवाली पर ही अंत होगा।

इससे पहले इन्होंने अपनी लॉजिस्टिक्स कंपनी Vulcan Express के अंतर्गत वेयरहाउज़ भी खोले, जिससे वे आने वाले समय में बढ़ने वाली डिमांड से भी जूझ सकें।

अब ये देखने लायक होगा कि ये प्रयास Snapdeal के लिये कितना लाभ लाते हैं। और इससे बड़ा मुद्दा तो ये है कि क्या ये Amazon India से जूझने के लिये पर्याप्त होगा?

इस अमेरिकी दानव ने पहले ही शिपमेंटों के मामले में इन्हें इनके दूसरे पायदान से खिसका दिया है। संभावना तो ये भी लग रही है कि इन्होंने जुलाई की सेल के साथ Flipkart को पहले पायदान से भी गिरा दिया है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन