खबर स्टार्टअप्स

IIT 20 स्टार्टपों को कैंपस प्लेसमेंट से करेगा ब्लैकलिस्ट

भारतीय स्टार्टपों में कंसॉलिडेशन की लहर दौड़ रही है और उनके लिये निवेश जुटाना मुश्किल हो रहा है। इसी कारण से वे अपने कयी कैंपस प्लेसमेंट ऑफ़रों को वापस ले लेते हैं, या उसकी जॉइनिंग का दिन आगे बढ़ा देते हैं, जिसके कारण कई छात्र बिना नौकरियों के रह जाते हैं। ये फिर होने से रोकने के लिये, IIT इस बार कुछ 20 स्टार्टपों को प्लेसमेंट सीज़न से बूट करने के विचार में हैं।

IIT कानपुर में हुई ऑल-IIT प्लेसमेंट कमेटी की मीटिंग में बारह भारतीय तकनीक संस्थानों (Indian Institute of Technology-IIT) ने ये कड़ा कदम उठाने का निर्णय लिया (ET द्वारा)। ये, क्योंकि पिछले वर्ष कई नामी स्टार्टपों ने सनातक प्राप्त कर रहे कई छात्रों को दिये गये ऑफ़रों को वापस ले लिया था।

साथ ही, ये प्रतिष्ठित संस्थान निम्नलिखित तीन श्रेणियों में पीछे रहने वाले इन स्टार्टपों को चेतावनी भी देंगे – जुड़ने की तिथी बदलना, बदले गये वेतन के टर्म या बदला गयी नौकरी प्रोफ़ाइल और पूरी तरह नौकरी प्रस्ताव वापस लेना।

उन्होंने आगे कहा कि पहली दो श्रोणियों में पीछे रहने वाली कंपनियों को चेतावनी देंगे, वहीं तीसरी श्रेणी में आने वाली कंपनियां प्लेसमोंट से बाधित रहेंगी। Flipkart, जिन्होंने आंशिक रूप से नियमों का उल्लंघन किया, को उम्मीद है कि इस सत्र में बाधित नहीं किया जायेगा।

इसी पर बयान देते हुए, ऑल-IIT प्लेसमेंट सेल (AIPC) के कंवीनर कस्तूर्बा मोहंते ने कहा:

“Flipkart इन बैन किये गये स्टार्टपों की सूचि में नहीं है, क्योंकि उन्होंने ऑफ़र पूरी तरह वापस नहीं लिया। वहीं, Zomato पर बैन लगातार दूसरे वर्ष को लिये रहेगा।”

कमेटी ने दो सप्ताहों में डिफ़ॉल्टर सूचि तैयार करने का निर्णय लिया है, और वे ऐसा कुछ दोबारा नहीं होने देना चाहते हैं। इस तरह का व्यवहार IITयों में नहीं मान्य होगा, क्योंकि इससे देश के सबसे बड़े तकनीक संस्थानों के नाम पर धब्बा लगता है।

ये नियम इसलिये लाया गया क्योंकि Flipkart और Zomato जैसे स्टार्टपों ने पिछले वर्ष जुड़ने का दिन बदल दिया था और ऑफ़र वापस ले लिये थे। Zomato को पिछले वर्ष बैन कर दिया गया था क्योंकि सी.ई.ओ. दीपिंदर गोयल द्वारा मांगे गये एक दिन के प्लेसमेंट स्लॉट को लेकर विवाद हो गया था। बाद में उन्होंने Twitter पर भारतीय प्लेसमेंट सिस्टम के बुरे हाल को लेकर अपनी उल्झन ज़ाहिर करी थी।

वहीं, Flipkart ने संस्थान की रीस्ट्रक्चरिंग का हवाला देते हुए अधिकतम कैंपस रिक्रूटों की जॉइनिंग तारीख जून से दिसंबर कर दी थी। उन्होंने कहा था:

“जॉइनिंग की तारीख को छः महीने आगे बढ़ाने का निर्णय सभी संभावनाओं को सोच समझ कर और Flipkart के स्ट्रक्चरल रीऑर्गनाइज़ेशन को ध्यान में रख कर लिया गया है।”

हायपरलोकल डिलिवरी स्पेस के संघर्ष करते खिलाड़ी Grofers ने भी हाल ही में अपनी कार्य क्षमता 10% घटायी और 67 कैंपस ऑफ़र वापस ले लिये।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन