Uncategorised

GoJavas कोरियर सेवा उपलब्ध कराने वाले Pigeon Express से संभावित अधिग्रहण की वार्ता में

Jabong के साथ Twitter के विवाद में नाम फसने के बाद से GoJavas का समय अच्छा नहीं चल रहा है। पहले इन्होंने Snapdeal द्वारा पूरे अधिग्रहण से पैर खींचे, फिर कुछ समय के लिये ऑपरेशन बंद कर दिये, फिर, उनके संस्थान के पूरे कायापलट होने की खबर भी आयी।

अब, कुछ और भी सुनने में आया है। Mint ने बताया कि वे दिल्ली की कोरियर सेवा Pigeon Express के साथ संभावित अधिग्रहण की चर्चा कर रहे हैं।

रिपोर्ट में मामले से अवगत दो व्याक्तियों का हवाला दिया गया। उसमें कहा गया कि GoJavas दो दिल्ली स्थित कंपनियों से अधिग्रहण की बात कर रही है – Pigeon Express और Trackon Couriers। परंतु Pigeon Express ये अधिग्रहण करे, इसकी अधिक संभावना है।

“GoJavas, Snapdeal, Pigeon Express और Trackon Couriers के अलावा दूसरों से भी वार्ता में है। परंतु Pigeon Express तेज़ी से आगे बढ़ रही है और ये अधिग्रहण वही करें, इसकी पूरी संभावना है।”

ऊपर कथित दो व्यक्तियों में से एक ने बताया।

इन लोगों ने ये भी बताया कि Pigeon Express के एक निदेशक, आनंद राय GoJavas के मैनेजमेंट को अपनी निगरानी में ले भी चुके हैं। Pigeon Express एक कोरियर कंपनी है और DTDC, BlueDart, आदि जैसों से प्रतिद्वंद कर रही है।

इसकी स्थापना 2004 में हुई थी और कथित तौर पर देश भर में इनके 135 डिलिवरी केंद्र हैं। ये रोज़ाना 1.2 लाख डिलिवरी कार्य करते हैं, जिनमें पार्सल, बल्क पैकेट व अन्य कंसाइनमेंट होते हैं।

सुनने में आया है कि GoJavas ने कम से कम 1500 डिलिवरी प्रोफ़ेशनलों और डिलिवरी हब अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है। उन्होंने वरिष्ठ निदेशन पद के कुछ अधिकारियों को जाने के लिये भी कहा है। ये ज्ञात हो कि Snapdeal और Jabong के इनसे पीछा छुड़ाने के बाद कंपनी को बहुत घाटा हुआ है। Jabong और Snapdeal, GoJavas का करीब 80% व्यापार बनाते थे।

Snapdeal, जिनके पास इसमें 42% स्टेक है, अब बहुत हद तक अपनी खुद की लॉजिस्टिक्स कंपनी Vulcan Express पर निर्भर हैं। रिपोर्टों को मुताबिक, GoJavas के अंत समय पर डील से पीछे हटने को लेकर Snapdeal बहुत खुश नहीं थी। उन्हें एक और धक्का लगा Flipkart के Jabong का अधिग्रहण करने को बाद।

बहरहाल, GoJavas ने अपने ऑपरेशन वापस शुरू नहीं किये हैं और वे ऐसा एक बार पूरा अधिग्रहण होने के बाद ही करेंगे, जिसके बाद कंपनी की कायापलट होना भी तय है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन