Uncategorised

IIT बॉम्बे, DST और Intel ने लांच किया एक हार्डवेयर स्टार्टप इंक्यूबेटर ‘Plugin’

दुनिया भर में भारत सॉफ़्टवेयर में अपनी महारथ के लिये जाना जाता है। अनेकों स्टार्टप व कंपनियां यहां सॉफ़्टवेयर व सॉफ़्टवेयर सेवाओं पर कार्य कर रही हैं। परंतु बात जब हार्डवेयर की आती है तो मामला इतना सुहाना नहीं है और इसके पीछे निवेश व सपोर्ट की कमी एक बहुत ही बड़ा कारण है। यही ध्यान में रखते हुए, Intel, IIT Bombay और DST ने एक हार्डवेय स्टार्टप इंक्यूबेटर ‘Plugin’ लांच करने के लिये हाथ मिलाये हैं।

Plugin केवल हार्डवेयर पर कार्य कर रहे विक्रेताओं व डिज़ाइनरों को निवेश, इंफ़्रास्ट्रक्चर और मेंटरशिप सपोर्ट उपलब्ध कराने कि ओर केंद्रित होगा। ये उन्हें अपनी बाज़ार रणनीतियां तैयार व बहतर करने में भी सहायता करेगा।

DST, IIT Bombay और Intel ने इसके लिये तीन वर्षों के लिये साझा किया है और वे शुरवात में इसमें कुल ₹4 करोड़ का निवेश करेंगे। वे धीरे-धीरे इस राशि को बढ़ाने के विचार में हैं।

इन तीन संस्थानों के बाच हुई इस साझेदारी के बार में बयान देते हुए SINE (IIT Bombay में व्यापार इंक्यूबेटर) की सी.ओ.ओ. पॉयनी भट्ट ने कहा:

“Intel कॉर्पोरेट, तकनीकी और ऑन-फ़ील्ड मज़बूती लायेगा। हम वेंचर निर्माण, वेंचर सपोर्ट व कनेक्शनों पर केंद्रित रहेंगे। DST एक सरकारी सलाहकार, पॉलिसी बनाने वाले और निवेशक के रूप में उपलब्ध होगी।”

Plugin बौद्धिक प्रॉपर्टी ड्रिविन हार्डवेयर व सिस्टम स्टार्टपों की खोज में है। वे सुरक्षा, ग्राफ़्किस, डिस्प्ले, Internet of Things, स्वास्थ्यकेयर, डेटाकेंद्रों और क्लाउड जैसी श्रेणियों से हो सकते हैं।

इस एक वर्ष लंबे कार्यक्रम का हिस्सा बनने हेतु ये ज़रूरी है कि इन स्टार्टपों के पास कम से कम एक दिखाने लायक विचार और प्रोटोटाइप होना अनिवार्य है। दूसरी सुविधाओं के साथ ही, इन्हें ₹30 लाख का शुरवाती निवेश मिलेगा।

इसी के बारे में बताते हुए भट्ट ने कहा:

“हम सभी 20 स्टार्टपों को हार्डवेयर टूलकिट, प्रोडक्ट विकास किट (जो कि दोनों ही स्वयं बहुत महंगी हैं) समेत कुल ₹30 लाख का निवेश उपलब्ध करायेंगे। हम एक ही चीज़ चाहते हैं कि वे हार्डवेयर स्टार्टप हों और हम स्वास्थ्य केयर, परिवहन, IoT व उपभोक्ता प्रोडक्ट जैसी विविध श्रेणियों में प्रोडक्टों की उम्मीद कर रहे हैं।”

Plugin कार्यक्रम तीन चरणों में बंटा होगा। पहले चरण में स्टार्टपों को बुलाया जायेगा, उन्हें खोजा जायेगा और फ़िल्टर किया जायेगा। अगले चरण में स्टार्टपों को छः महीनों के लिये SINE (IIT Bombay के व्यापार इंक्यूबेटर) या फिर बेंगलुरु स्थित Intel की प्रयोगशाला में उपलब्ध सेवाओं को प्रयोग करने की सुविधा दी जायेगी।

छ: महीनों के अंत में, स्टार्टपों को और भी निवेश जुटाने के लिये निवेशकों के सामने एक प्रदर्शन करना होगा। अंतिम चरण में उन्हें वर्चुअल सपोर्ट के रूप में केंद्रित कोचिंग दी जायेगी। Plugin इस वर्ष अक्टूबर में अपना पहला बैच शुरू करेगा और इन्होंने इसके लिय आवेदन लेने भी शुरू कर दिये हैं। इन स्टार्टपों का चुनाव SINE करेगी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन