खबर स्टार्टअप्स

लॉजिस्टिक्स फ़र्म GoJavas ने ऑपरेशन बदलावों और तकनीकी परेशानियों के कारण ऑपरेशन बंद किये

GoJavas, जो कि हाल ही में अपनी Twitter लीक के कारण चर्चा में आये थे, ने कुछ समय के लिये तकनीकी दिक्कतों के कारण अपने ऑपरेशन बंद कर दिये हैं। LiveMint ने इस बात का खुलासा किया, और इस बात का भी कि कोई बाहरी निवेशक न ढूंढ़ पाने के कारण ये अभी भी Snapdeal के साथ अधिग्रहण की चर्चा में हैं।

जहां तक इस कुछ समय के शटडाउन की बात है, GoJavas ने इस ई-मेल किये गये बयान में इस ख़बर की पुष्टी करी:

“GoJavas और भी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिये व और भी लोगों तक पहुंचने के लिये अपने ऑपरेशनल मॉडल में बदलाव ला रहा है। परंतु इसमें कुछ IT (इन्फ़ॉर्मेशन तकनीक) की दिक्कत आ गयी है, जिससे इस बदलाव को ला पाना थोड़ा मुश्किल हो रहा है।

हम दिन-रात इस दिक्कत को दूर करने का प्रयास कर रहे हैं, और अपने सिस्टमों की जांच करने के बाद फिर से लोड को शुरू कर देंगे। सभी उपभोक्ताओं को सूचित कर दिया गया है और वे भी सहयोग कर रहे हैं।”

परंतु बयान में, न किये जा रहे ऑपरेशनल बदलावों की जानकारी दी गयी और न ही ये बताया गया कि परेशानी दूर होकर ऑपरेशन वापस शुरू होने में कितना समय लग सकता है। GoJavas ने पिछले एक सप्ताह से अपने ऑपरेशन रोक रखे हैं, जिसका प्रभाव 450 से भी अधिक कंपनियों पर पड़ रहा है।

ये भी जान लें कि Snapdeal द्वारा GoJavas के अधिग्रहण की खबरें एक वर्ष पहले से आ रही हैं। कंपनी इस लॉजिस्टिक्स फ़र्म के 42% की मालिक है और पिछले वर्ष इसको अधिग्रहित करने के बहुत करीब आ गयी थी।

परंतु हाल ही में हुए एक Twitter लीक, जिसके अनुसार Rocket Internet, Jabong के वरिष्ठ अधिकारियों की जांच कर रही है, में GoJavas का भी नाम खींच लिया गया था। मुख्य आरोपियों में से एक, Jabong के सह संस्थापक और पूर्व सी.ई.ओ. प्रवीण सिन्हा लॉजिस्टिक्स कंपनी में एक महत्वपूर्ण स्टेक के मालिक हैं। लीक के मुताबिक, GoJavas के Snapdeal द्वारा अधिग्रहण में इसी से संबंधित कुछ मतभेद आ रहा था।

भले ही सिन्हा ने इन खबरों को नकार दिया हो, परंतु कई रिपोर्टों में कहा गया है कि GoJavas, Snapdeal से वार्ता के समय बात छोड़ कर चली गयी थी। निवीनतम रिपोर्टें ये बता रही हैं कि Snapdeal अभी भी GoJavas को अधिग्रहित कर सकती है, क्योंकि उन्हें इस डील से लाभ बहुत होगा।

Snapdeal इस समय अपना लॉजिस्टिक्स नेट्वर्क बना और बढ़ा रही है। इन्होंने हाल ही में अपने लॉजिस्टिक्स फ़र्म Vulcan Express के अंतर्गत छः नये लॉजिस्टिक्स हब खोले। कमाल की बात है कि Vulcan Express के मुख्य ऑपरेटिंग अधिकारी विजय घाटगे GoJavas में भी इसी पद पर रह चुके हैं।

GoJavas के अधिग्रहण के साथ, Snapdeal अपनी लॉजिस्टिकंस व सप्लाय चेन का और भी अच्छी तरह से विस्तार कर सकेगी। उन्हें एक बना-बनाया डिलिवरी मंच मिलेगा, जिससे न सिर्फ़ उनके डिलिवरी कॉस्ट में कम होंगे, बल्की डिलिवरी की तेज़ी और भी बढ़ेगी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन