खबर

फ़रनिचर कराये पर देने वाले स्टार्टप CityFurnish को Brand Capital से सीड सत्र में निवेश

गुड़गांव आधारित फ़रनिचर किराये पर देने वाले स्टार्टप CityFurnish ने आज एक सीड राउंड पूरा करने कि घोषणा करी है। निवेश Brand Capital से आया है जो कि Bennett, Coleman and Co. का एक अंग है – जो कि The Times of India और दूसरे ऐसे प्रिंट मीडिया प्रॉपर्टियों का मालिक व एक बहुत ही बड़ा मीडिया कॉन्गलॉमरेट है।

Brand Capital के साथ, इस सत्र में उनके पुराने निवेशकों ने भी हिस्सा लिया। Brand Capital के सहयोग से, CityFurnish अपने ब्रांडों और ऑफ़रिंग का Bennett, Coleman & Co Ltd के अनेक मीडिया पबलिकेशनों के ज़रिये प्रचार करेंगे जो कि Times Group के ज़रिये कार्य करते हैं।

कमाल की बात है कि ये हाल ही में आये ट्रेंड का एक और उदाहरण है। Brand Capital जैसी मीडिया कंपनियां स्टार्टपों और ग्रोथ चरण की कंपनियों में रणनैतिक स्टेक खरीदती हैं, और वो भी अपने प्रचार व डिजिटल मीडिया अनुभव के बदले में। दूसरी ओर, कंपनियों को एक छोटे स्टेक के बदले में बहुत सारे प्रचार का एक्स्पोज़र मिल जाता है।

ये निवेश CityFurnish के लिये एक बहुत बड़ा कदम प्रतीत होता है। ये अब अपनी पहुंच छः मेट्रो व पहले टियर के शहरों तक ले जाना चाहते हैं, जिससे ये प्रिमियम लाइफ़स्टाइल प्रोडक्ट किराये पर देने वाले क्षेत्र में एक नामी ब्रांड बन जायें।

इस समय कंपनी गुड़गांव, दिल्ली और बैंगलोर में कार्य कर रही है, और इन्होंने पुणे व मुंबई में भी लांच का प्लान बना लिया है। ये किराये पर सामान लेने को आसान और सस्ता बना कर भारत की किराया इंडस्ट्री को बदलने चाहते हैं।

ये सस्ते मासिक किराये के प्लानों पर विविध प्रकार के गृह फ़रनीचर और फ़र्निशिंग उपलब्ध कराते हैं। इन्होंने हाल ही में एक्सरसाइज़ के सामान की नयी श्रेणी भी लांच करी है।

निवेश पर बात करते हुए CityFurnish के संस्थापक-निदेशर नीरव जैन ने कहा:

“हम Times Group के साथ अपनी नयी साझेदारी से बहुत उत्साहित हैं। हम अपने प्रतिष्ठित प्रचार चैनलों से ब्रांडों को बनाने की उनकी क्षमता की सहायता लेने के विचार में हैं। हम अपने ब्रांड के लिये एक और भी ऊंचा स्तर देख सकते हैं, जिससे हमें और अधिक शहरों में विस्तार करने में सुविधा होगी। हम प्रिमियम लाइफ़स्टाइल उपायों के किराये पर लेने के लिये सभी का एकमात्र केंद्र बनना चाहते हैं।”

इससे पहले कंपनी को CitrusPay के सह संस्थापक जीतेंद्र गुप्ता से एक गुप्त रक़म का निवेश मिला था। पैसे का प्रयोग टीम मज़बूत करने में, प्रोडक्ट मैनेजमेंट बहतर करने में और ऑर्डर पूरा करने में हुआ था। उस समय से माह-प्रति-माह 70-80% के स्तर से बढ़ने का दावा कर रहे थे।

उन्होंने OYO और Grabhouse जैसे इंडस्ट्री साझेदारों के साथ 10 से ऊपर साझेदारियां करी हैं। ये विशेष ऑफ़िस फ़रनिशिंग ऑफ़रों के ज़रिये स्टार्टपों को भी केंद्रित कर रहे हैं।

अनियोजित वेंडरों और अनेक भुगतान नेटवर्कों के साथ, भारत में किराये पर सामान लेने का बाज़ार अभी भी सोया हुआ है। इसको बदलने के लिये, इधर बीच अनेक नये स्टार्टप सामने आये हैं। इस स्पेस में CityFurnish को Furlenco, Rentongo, RentoMojo आदि जैसों से प्रतिद्वंद करनै होगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन