ई-कॉमर्स स्टार्टअप्स

Flipkart ने अंतरिम सी.एफ़.ओ. कल्याण कृष्णमूर्ती को मैनेजमेंट श्रेणी की अगुवाई करने के लिये नियुक्त किया

अपना वरिष्ठ अधिकारी टियर मज़बूत करने के लिये (या पुनः मज़बूत बनाने के लिये), Flipkart पूर्व सी. एफ़. ओ. कल्याण कृष्णमूर्ती को वापस एक महत्वपूर्ण पद संभालने के लिये ला रही है। ये एक राहत होगी, क्योंकि, इधर बीच न केवल भारत की सबसे बड़ी पर इस समय सबसे परेशानी में भी ई-कॉमर्स कंपनी को बहुत से उच्च पदों से निकासियां देखने को मिली हैं।

कल्याण, जो कि इस समय निवेश फ़र्म Tiger Global के साथ मैनेजिंग निदेशक के रूप में जुड़े हैं, Flipkart में श्रेणी के निदेशक की भूमिका निभायेंगे। कल्याण इससे पहले एशियाई बाज़ारों से हाथों हाथ डील करने वाले eBay अधिकारी रह चुके हैं। वे उसके बाद पोर्टफ़ोलियो कंपनियों के लिये 2011 में वित्त निदेशक के रूप में Tiger Global से जुड़े और फिर 2013 में Flipkart से अंतरिम सी.एफ़.ओ. के रूप में।

कल्याण कंपनी को प्रगतिशील बनाने में और Amazon को टक्कर देने के लिये महत्वपूर्ण साबित होंगे, जिन्होंने भारत में अपना कमिटमेंट $2 बिलियन से बढ़ा कर $5 बिलियन कर दिया है।

साथ ही, इस नियुक्ती का समय भी बहुत ही महत्वपूर्ण है। त्योहार का सीज़न, जब भारत के अधिकतम लोग खरीददारी करते हैं, आने वाला है। ये पता लगाने में सहायता कर सकता है कि विश्व के सबसे लाभप्रद ई-कॉमर्स बाज़ारों में से एक में दरसल लीडर कौन है।

नियुक्ती पर Flipkart के वक्ता ने कहा:

“नेतृत्व टीम को मज़बूत करने के लिये Flipkart के पूर्व अधिकारी कल्याण को वापस लाने का निर्णय एक बोर्ड का था, जिसकी अगुवाई बिन्नी (बंसल) ने करी थी। कल्याण श्रेणी डिज़ाइन संस्था की अगुवाई करेंगे और बिन्नी को रिपोर्ट करेंगे।”

वहीं कल्याण को रिपोर्ट करने वालों में अमित बंसल (बड़े अप्लायंसों के प्रमुख), ऋषी वासुदेव (फ़ैशन) और आदर्श मेनन (इलेक्ट्रॉनिक्स व ऑटोमोबाइल डिविज़न के) जैसे बड़े लोगों का नाम शामिल है। ये समझ आता है कि कल्याण Flipkart से पिछली बार के मुकाबिले एक और भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिये जुड़ रहे हैं।

कल्याण Tiger Global की पोर्टफ़ोलियो कंपनियों जैसे कि लॉजिस्टिक्स कंपनी Delhivery, गहना विक्रेता Caratlane और हायपर लोकल इलेक्ट्रॉनिक्स ख़रीददारी ऐप Zopper के भी बोर्ड में हैं। तो ये देखने लायक होगा कि Flipkart, Tiger Global और उनकी पोर्टफ़ोलियो कंपनियां इसके लिये किस प्रकार के अरेंजमेंट के साथ सामने आते हैं।

नियुक्ती मुख्य मार्केटिंग अधिकारी (CMO) समरदीप सुबंध के लिये भी चैन की सांस लायेगी, जो कि दिसंबर 2015 में Marico छोड़ कर Flipkart से जुड़ने के बाद से श्रेणी निदेशन भी संभाल रहे हैं। वे अब पूरी तरह मार्केटिंग पर ध्यान दे सकते हैं, और उन्हें श्रेणी में एक और भी “विस्तृत भूमिका” दी गयी है, जिनमें डिजिटल व पर्फ़ामेंस भूमिकाएं भी शामिल हैं।

खैर, ये नियुक्ती भी सी.ई.ओ. बिन्नी बंसल की नये, उच्च अधिकारी पदों के भगोड़े मेंबरों की जगह दिग्गजों को लाने की आदत के तहत ही है। ई-कॉमर्स मंच के प्रमुख मुकेश बंसल, मुख्य वित्त अधिकारी अंकित नागोरी और मुख्य प्रोडक्ट अधिकारी पुनीत सोनी कुछ ऐसे उच्च स्तर के अधिकारी हैं, जिन्होंने बिननी बंसल के सी.ई.ओ. पद पर नियुक्त होने के बाद अपने पद छोड़े हैं।

वहीं कल्याण अपनी दक्षता के लिये प्रतिष्ठित हैं और विश्लेषणात्मक क्षमताओं के लिये जाने जाते हैं।

“कल्याण बहुत ही विश्लेषणात्मक व्यक्ती हैं। वे बाज़ार श्रेणियों में दक्षता व अनुकूलन लाने में सहायता करेंगे।”

क्योंकि वे पहले ही Flipkart से जुड़े रहे हैं, पहले Tiger Global के ज़रिये – जो कि Flipkart में निवेशक हैं – फिर और करीबी रूप से उनके अंतरिम सी.एफ़.ओ. के रूप में, तो उन्हें कंपनी में समायोजित होने में अधिक समय नहीं लगेगा। कंपनी को इस समय अपनी सभी परेशानियों, जैसे कि वैल्युएशनों में मार्कडाउन, अधिकारीयों की निकासी और कड़े प्रतिद्वंद से लड़ने के लिये उनके कौशलों की आवश्यक्ता होगी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन