खबर

Uber का शोध दिखाता है कि फ़ोन की बैटरी कम होने पर उपभोगता 9.9 गुणा अधिक सर्ज किराया देने के लिये भी हो जाते हैं तैयार

सर्ज किराया वसूली की होड़ में, Uber ने कुछ ऐसे अंदरूनी रहस्य उजागर किये हैं, जो सर्ज और इन ऐग्रिगटरों को दिये गये अधिक मूल्य के प्रति आपका नज़रिया बदल सकते हैं।

Uber में वित्तीय शोध के प्रमुख कीथ चेन ने NPR के The Hidden Brain के पॉडकास्ट के लिये शंकर वेदांतम को दिये साक्षात्कार में सर्ज किराये के बारे में कुछ विशेष तथ्य बताये। अगर आप आम लोगों की तरह हैं तो App Store से कुछ भी डाउनलोड करते समय आप ये नहीं देखते होंगे कि आप ऐप्लिकेशन को अनुमती किन चीज़ों के लिये दे रहे हैं। एक ऐसी ही अनुमती आप Uber को अपनी बैटरी पर नज़र रखने के लिये देते हैं, जिससे वे कभी भी लो पावर मोड पर जा सकें। और यहीं से हमें इस शोध से संबंधित असली जानकारी मिलती है।

उपभोगता के फ़ोन से लगातार मिलते डेटा से एकत्रित किये हुए डेटा के परिणाम बहुत ही विचित्र हैं। चेन ने शंकर को बताया कि फ़ोन बंद होने वाला हो या बैटरी कम हो तो उपभोगता कैब के लिये 9.9x (क्या!) तक बढ़ाये दाम भी देने के लिये तैयार हो जाते हैं।

आप कहां हैं ये मायने नहीं रखता। आप बस ‘OK’ पर क्लिक कर देते हैं ताकि आप जहां हैं, वहीं रह न जायें। परंतु आप Uber के नोटिफ़िकेशन का इंतेज़ार कर सकते हैं और ये पाते हैं कि अगर आपकी बैटरी फ़ुल है तो सर्ज दामों में कमी आयेगी।

चेन द्वारा समझाया गया एक और विशेष कॉन्सेप्ट ये रहा।

कैब यात्रियों को सर्ज से और कैब ईकोसिस्टम पर इससे हो रहे पूरे माहौल पर असर से नफ़रत तो होगी, पर क्या आपको लगता है कि आप 2.0x के मुकाबले 2.1x सर्ज देना अधिक पसंद करेंगे? Uber का तो यही मानना है।

चेन का मानना है कि 2.0 जैसा राउंड फ़िगर देखकर उपभोगता को लगेगा कि कंपनी सिर्फ़ मौके का फ़ायदा उठाकर आपसे पैसे ऐंठने के लिये ये दाम ले रही है। पर 2.1x सर्ज देखकर उन्हें लगेगा कि अभी की सप्लाय व डिमांड के अनुसार मुश्किल ऐल्गॉरिदम के प्रयोग से इस सर्ज का निर्णय लिया गया है। उनके नज़रिये के मुताबिक ये 2.1x अधिक दाम समय के हिसाब से उपयुक्त है।

चेन ने जोड़ा कि ये बहुत महत्वपूर्ण उपभोगता डेटा है, परंतु ये वादा भी किया कि Uber इस डेटा का ग़लत उपयोग नहीं करेगी। पर क्योंकि आपको ये छोटी-छोटी जानकारियां मिल गयी हैं, तो आप सर्ज से वाक्यों से भविष्य में बच सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन