खबर स्टार्टअप्स

Practo ने पूर्व InMobi के अधिकारी मनीष डुगर को अपना नया वैश्विक मुख्य वित्त अधिकारी नियुक्त किया

अब अंतर्राष्ट्रीय ऑनलाइन स्वास्थ्य सेवा मंच Practo ने मनीष डुगर को अपना नया वैश्विक मुख्य वित्त अधिकारी नियुक्त करने की घोषणा करी, जो कि इससे पहले InMobi के सी.एफ़.ओ. भी रह चुके हैं।

Practo में, मनीष डुगर Practo के वित्तीय, क़ानूनी और नियंत्रक ऑपरेशनों को संभालेंगे। उन्होंने नया पदभार 15 अप्रैल को संभाला।

अपने नये पद के बारे में बात करते हुए मनीष डुगर ने कहा:

“Practo ने पिछले कुछ वर्षों में ही बहुत ग्रोथ करी है। मंच पर प्रोडक्टों की मिलियनों उपभोगताओं और हज़ारों स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने वालों के साथ बहुत स्केल देखी गयी है। स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के समाधान व उनको सुलझाने के तरीके विश्व भर में एक ही रहेंगे। मैं इस टीम से जुड़ कर इनकी ग्रोथ को अगले स्तर तक ले जाने के लिये बहुत उत्साहित हूं।”

Practo के संस्थापक व सी.ई.ओ. प्रशांत एन.डी. ने कहा:

“मनिष के हमसे जुड़ने से मुझे बहुत प्रसन्नता हुई है। Practo साल दर साल बढ़ते लाभ के साथ जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है, उसमें उनका वित्त के क्षेत्र में अनुभव और लाभकारी, पबलिकली ट्रेड कर रही कंपनियों में उनकी लीडरशिप बहुत सहायक होगी। वे Practo को उसके विभिन्न क्षेत्रों में विस्तार करने में भी सहायता करेंगे।”

मनीष के पास भारतीय मैनेजमेंट संस्थान, कलकत्ता से MBA डिग्री है। वे भारतीय चार्टर्ड अकाउंटंट संस्थान (ICWAI) के और भारतीय कंपनी सेक्रेटरी संस्थान (ICSI) के मेंबर भी हैं।

इससे पहले मनीष मोबाइल प्रचार नेट्वर्क InMobi में जून 2013 से मुख्य वित्त अधिकारी थे।

InMobi से पहले, वे RPG Enterprises में सी.एफ़.ओ. और Wipro Technologies में हाल ही के IT व्यापार के सी.एफ़.ओ. और कंपनी के वैश्विक BPO व्यापार के सी.ई.ओ. रहने के अलावा पिछले दस वर्षों में और भी अनेकों वरिष्ठ पदों पर रह चुके हैं।

2008 में संस्थापित Practo उपभोगताओं की हर प्रकार की स्वास्थ्य संबंधित ज़रूरतों को पूरी करते हैं – स्वास्थ्यकेयर सेवा से अपॉइंटमेंट बुक करने, चिकित्सक से ऑनलाइन सलाहें लेने, टेस्ट कराने और दवाएं मंगाने तक में काम आते हैं।

अभी तक कंपनी को सात निवेशकों से तीन निवेश सत्रों में $124 मिलियन प्राप्त हुए हैं। इन्होंने पिछले वर्ष चार स्टार्टपों का अधिग्रहण किया, जिनके नाम Fitho, Genii Technologies, Qikwell Technologies और Instahealth हैं।

ये उन कम भारतीय स्टार्टपों में से भी हैं, जिन्होंने अपना वैश्विक विस्तार करा है और ये दुनिया के 15 देशों के 50 शहरों में उपस्थित हैं और सिंगापुर व फ़िलिस्तीन जैसे दक्षिण एशियाई देश में उपस्थित हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन