खबर स्टार्टअप्स

TranServ को Micromax से सी सत्र में $15 मिलियन, IDFC ऑफ़रिंग बहतर करेंगे, नया माइक्रोक्रेडिट प्रोडक्ट बनाया

वित्त तकनीक स्टार्टपों के लिये आज और भी निवेश। अपने खुद के वॉलेट सेवा वाले डिजिटल भुगतान स्टार्टप TranServ को Micromax Informatics और IDFC Asset Management Co. द्वारा चलाये गये सी सत्र में करीब $15 मिलियन का निवेश प्राप्त हुआ है। इस निवेश सत्र में Nirvana और Faering Capital India Evolving Fund ने हिस्सा लिया।

जहां Nirvana Ventures और Farring Capital India Evolving Fund पुराने निवेशक हैं, Micromax Informatics और IDFC Asset Management ने कंपनी में पहली बार निवेश किया। IDFC ने अपने वेंचर कैपिटल फ़ंड IDFC SPICE के ज़रिये निवेश किया था।

नये कैपिटल को कंपनी माइक्रो क्रेडिट समेत दूसरे नये प्रोडक्ट लांच करने में प्रयोग करेगी, जिनपर अभी वे काम कर रहे हैं। ये और लोगों की नियुक्ती करने और भुगतान संबंधित अपनी तकनीक बहतर करने के विचार में भी हैं।

कंपनी अभी बैंकों और नॉन-बैंक वित्त संस्थानों से अपने माइक्रो क्रोडिट व्यापार को शुरू करने के लिये बात कर रही है। ये ऑर्गैनिक व इनऑर्गैनिक ज़रियों से भी ग्रोथ उपाय ढूंढ़ रहे हैं।

कंपनी के संस्थापक अनीष विलियम्स ने कहा कि संभवतः कंपनी की ग्रोथ दर के कारण उन्हें एक और निवेश सत्र चलाने की ज़रूरत ही न पड़े। उन्होंने यह भी कहा कि वे आने वाले डेढ़ वर्ष में कंपनी को पूरी तरह लाभकारी बनाने के विचार में हैं।

हम दूसरे समेत माइक्रो क्रेडिट और माइक्रो निवेश जैसे नये प्रोडक्ट लाने के विचार में हैं। ट्रांज़ैक्शन सीमलेस बनाने को लिये Udio को पुश करने पर अधिक ध्यान दिया जायेगा।

TranServ के संस्थापक व सी.ई.ओ. अनीष विलियम्स ने कहा।

उन्होंने आगे कहा कि अमर हबीबुल्लाह, अदित्य गुप्ता, संदीप घुले और उनके स्वयं के पास सबसे बड़े शेयरहोल्डर हैं, जबकि उनके पास कंपनी की एक्विटी का मात्र 51% ही है।

इस वर्ष की शुरवात में कंपनी ने Udio का लांच किया था – डिजिटल वॉलेट, एक सोशल ऐंगल के साथ। वॉलेट एक सोशल मॉडल अनुभव है, जो कि असली और वर्चुअल भुगतान के बीच की दूरी को कम करता है।

Udio वॉलेट भुगतान से जुड़े सोशल व सामाजिक ऐस्पेक्ट को सामने लाते हैं, और अपने खुद के सुरक्षित भुगतान सिस्टम से ये भी सुनिश्चित करते हैं कि डिजिटल P2P ट्रांज़ैक्शन कहीं भी, कभी भी हो सकें। पिछले वर्ष इन्होंने सभी Micromax डिवाइसों में अपनी सेवा उपलब्ध कराने के लिये Micromax से साझा किया था।

कंपनी को पांच वर्ष पहले अनीष विलियम्स, अदित्य गुप्ता और संदीप घुले ने संस्थापित किया था। TranServ एक इलेक्ट्रॉनिक भुगतान और प्रीपेड भुगतान उपाय सॉफ़्टवेयर मंच है, जो कि अनेक संस्थानों और लोगों के ज़रिये भुगतान आसान बनाता है।

अभी तक कंपनी बीमा व डेरी भुगतान के साथ सरकारी ग्रांटों पर प्रोडक्ट बना रही थी। इनका फ़्लैगशिप ब्रांड Smart!Pay है और RuPay और Visa के साथ Bank of India, Kotak Mahindra Bank, Axis Bank जैसे लीडरों के साथ कार्य कर रहे हैं।

इस क्षेत्र में TranServ को ItzCash से सीधा प्रतिद्वंद मिल रहा है, वहीं डिजिटल भुगतान क्षेत्र में इन्हें PayTM, MobiKwik, FreeCharge, Oxigen आदि जैसे खिलाड़ियों से जूझना पड़ेगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन