खबर स्टार्टअप्स

भारतीय ब्यूटी सैलून चेन Naturals ने सैलून ऐग्रिग्टर Vyomo में $15 मिलियन का खरीदा मजॉरिटी स्टेक

भारत के ऑन-डिमांड फ़ैशन स्टार्टपों के लिये बड़ी खबर। Rocket Internet द्वारा निवेशित सैलॉन ऐग्रिगेटर Vyomo ने भारतीय ख़ूबसूरती सैलॉन नेट्वर्क Naturals को अपना एक गुप्त परंतु मजॉरिटी स्टेक बेच दिया है। डील $15 मिलियन के करीब की बतायी जा रही है, परंतु बेचे गये स्टेक का प्रतिशत् नहीं बताया जा रहा है।

डील के मुताबिक, Vyomo को [email protected] में रीब्रांड कर लेगा, जिससे स्पष्ट पता चलता है कि Naturals कैसे Vyomo के ऐग्रिगेट किये नेट्वर्क का प्रयोग कर भारतीय घरों में प्रवेश करना चाहते हैं। वहीं, जहां Vyomo की मैनेजमेंट टीम वही रहेगी, इनके बोर्ड में दोनों कंपनियों का पर्याप्त प्रतिनिधित्व होगा।

इस सत्र में आये निवेश का प्रयोग तकनीक बहतर करने और उपभोगता डिमांड को पूरा करने के लिये विस्तार करने में किया जायेगा।

इस डील के बारे में बात करते हुए Vyomo के संस्थापक अभिनव खरे ने कहा:

इस डील के साथ बिना अधिक पैसों के हमें 7,500 Natutals स्टाइलिस्टों का ऐक्सेस मिल रहा है। हमारे पास सालॉन के अंदर के अनुभव की कमी थी, पर इस डील के साथ हम रोज़ाना 25,000 उपभोगताओं को सेवा उपलब्ध करा पायेंगे।

पिछले साल जून मे कंपनी को युवराज सिंह के वेंचर कैपिटल फ़र्म YouWeCan Ventures और अब Ola की सेवा TaxiForSure के संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्णन से सीड निवेश प्राप्त हुआ था।

अभिनव खरे व पूनम मारवाह द्वारा स्टाइलिस्टों के लिये स्मार्टफ़ोन द्वारा अपना व्यापार विस्तृत करने और उपभोगताओं के लिये ख़ूबसूरती संबंधित अपॉइंटमेंट लेने का एकमात्र स्टॉप बनने के लिये बनाया गया Vyomo दरसल एक ख़ूबसूरती व वेलनेस मंच है, जो कि ख़ूबसूरती सेवा के मांगे जाने, ऑफ़र होने और दिये जाने के तरीके को कृत्रिम बुद्धी व डेटा ऐनालिटिक्स के प्रयोग से बदलना चाहता है।

स्टार्टप की मोबाइल ऐप Android व iOS उपभोगताओं के लिये प्रयोग करी जाती है। इनका दावा है कि इनके पास दिल्ली, मुंबई व बेंगलुरू में करीब 1500 सैलॉन व स्पा हैं। कंपनी 2017 तक 1 मिलियन स्टाइलिस्टों को अपने मंच पर ला, उपभोगताओं को बिना परेशानी सैलॉन व स्पा अनुभव बुक करने की अज़ादी देना और अपनी कमाई बढ़ाना चाहती है।

Natutals के मुख्य अधिकारी सीके कुमारवेल ने कहा:

“हम सैलॉन स्पेशलिस्ट हैं, पर हमने ये समझा कि इस समय ख़ूबसूरती स्पेस में ऑन-डिमांड सेवाओं का बड़ा दबदबा है। क्योंकि हम खुद इससे जुड़े बैक एंड व तकनीक नहीं समझ पाते, Vyomo के साथ ये डील हमारे लिये बिलकुल नये अवसर ला रही है।”

डील Vyomo के निवेशकों के लिये बहुत लाभकारी रही है। Rocket Internet के लिये ये एक और भारतीय कंपनी से बड़ी निकासी है – जिसकी ज़रूरत भी थी – ये देखते हुए कि Jabong व इनके दूसरे निवेशों का क्या हश्र हुआ है। Jabong बखेड़े के बाद Vyomo भारतीय स्टार्टपों के मध्य Rocket Internet का दूसरा प्रयास था।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन