खबर स्टार्टअप्स

अपने फ़र्निचर ब्रांड होमटाउन को मज़बूती प्रदान करने हेतु किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप ने किया FabFurnish.Com का अधिग्रहण

हर समय भारतीय ई-कॉमर्स के विरुद्ध बोलने के लिये जाने जाने वाले किशोर बियानी को उसी क्षेत्र में रुची हो रही है। उनकी कंपनी Future Group, Rocket Internet द्वारा बैक ऑनलाइन फ़र्निचर बाज़ार FabFurnish का अधिग्रहण करने के अंतिम चरणों में है।

डील के वित्तीय क्षेत्र को उजागर नहीं किया गया है, पर मुद्दे से जुड़े दो लोगों ने LiveMint को बताया कि Future Group इस डील के लिये ₹15-20 करोड़, कैश में दे सकता है।

ये किशोर बियानी के लिये उपभोगता इंटरनेट कंपनी का पहला अधिग्रहण है और Rocket Internet के लिये पहली निकासी, जो कि कुछ समय अपने भारतीय निवेशों (Jabong, FoodPanda, आदि) से पीछा छुड़ाने के प्रयास में हैं।

Future Group के पास पहले से ही HomeTown नाम का अपना फ़र्निचर और होम फ़र्निशिंग ब्रांड है, जो कि 40 स्टोरों के साथ 20 शहरों में उपस्थित है। अधिग्रहण के बाद, FabFurnish के लगभग 100 कर्मचारियों के साथ पूरी मैनेजमेंट टीम HomeTown से जुड़ जायेगी, पर ऑनलाइन रीटेल व्यापार का ही ध्यान रखेगी।

FabFurnish के साथ ये देश भर के ऐसे क्षेत्रों में अपनी उपस्थिती दर्ज कराना चाहते हैं जहां इनके ऑफ़लाइन स्टोर नहीं हैं।

हम FabFurnish के ऑनलाइन मंच व डिलिवरी मॉडल का प्रयोग ऐसे क्षेत्रों तक पहुंचने में करेंगे जहां हमारे ऑफ़लाइन स्टोर न हों या हमारी पहुंच उतनी न हो।

Future Group सी.ई.ओ. किशोर बियानी ने कहा।

बियानी के मुताबिक इस वित्त वर्ष के अंत तक HomeTown करीब 800 से 1000 करोड़ तक का व्यापार बन सकता है। यह अधिग्रहण इन्हें स्वीडी फ़र्निचर रीटेल दानव IKEA से प्रतिद्वंद करने के लिये प्रिपेयर कर देगा, जिनके अगले वर्ष भारतीय बाज़ार में प्रवेश करने की ख़बरें आयीं हैं। बियानी इस वत्त वर्ष में जुड़ी हुई एंटिटी के ₹40-₹50 करोड़ का EBITDA अर्जित करने की उम्मीद कर रहे हैं।

2012 में संस्थापित FabFurnish ऑनलाइन फ़र्निशिंग क्षेत्र में प्रवेश करने वाली पहली कंपनियों में से एक है। पहले ये विक्रेताओं को बढ़ावा देने के अलावा निजी लेबलों की भी बिक्री करते थे।

पिछले वर्ष संस्थापकों मेहुल अग्रवाल और विक्रम चोपड़ा के नया वेंचर शुरू करने के लिये कंपनी से निकासी लेने के बाद ये केवल बाज़ार मॉडल में बदल गये। इन्होंने कॉस्ट-कटिंग और वित्त स्वास्थ्य सुधारने के लिये अपनी 25% के करीब वर्क फ़ोर्स को निकाला और अपना वेयरहाउज़ भी खाली कर दिया।

परंतु कंपनी Goldman Sachs द्वारा बैक Pepperfry और Sequoia Capital व रतन टाटा द्वारा बैक UrbanLadder से अधिक प्रतिद्वंद मिलने के कारण व्यापार चलाये रखने में असफल रही।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन