खबर स्टार्टअप्स

एथनिक (संजातीय) उत्पादों के ई-कॉमर्स स्टार्टअप Craftsvilla ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड व मध्य पूर्व में किया विस्तार

एथनिक उत्पादों के ई-कॉमर्स स्टार्टअप Craftsvila को पिछले वर्ष सत्र बी व सत्र सी में कुल $52 मिलियन का निवेश मिला था। और कंपनी इन निवेशों के मिलते समय साधे गए अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते हुए, खुद को वैश्विक एथनिक प्रोडक्टों का बाज़ार सिद्ध करने के लिये दूसरे देशों में विस्तार कर रही है। CraftsVilla अपनी सेवाओं को ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड व मध्य पूर्व में विस्तार कर रहे हैं।

हमें पॉलिन्शिया द्वीपों जैसे दूर दराज क्षेत्रों समेत अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों से डिमांड आ रही है। हमने ऑस्ट्रेलिया व मध्य पूर्व में उपभोगताओं से बहुत ट्रैक्शन देखा है।

CraftsVilla.com के संस्थापक मनोज गुप्ता ने कहा।

CraftsVilla को नये क्षेत्रों से एथनिक प्रोडक्टों की मांग होने की उम्मीद है। ऑस्ट्रलिया में रह रहे प्रवासी भारतियों के मध्य भारतीय प्रोडक्टों की बहुत मांग है, जिनमें रज़ाई, तकिये की खोल व Urli, धार्मिक पात्र शैमिल हैं।

घर व फ़र्निशिंग प्रोडक्टों की मांग न्यूज़ीलैंड में भी है, वहीं मध्य पूर्वी देशों में लहंगों, सल्वार सूटों, और कुंदन के गहनों की अधिक मांग है।

गुप्ता के मुताबिक, कंपनी एक क्यूरेट करी गयी लिस्ट के प्रोडक्ट $20 से शुरू कर के इन अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में उपलब्ध करायेगी। उन्होंने आगे कहा कि वे इस वित्त वर्ष में 100 करोड़ के रेवेन्यू कमाने के प्रयास में हैं।

2011 में संस्थापित और सी सत्र के बाद, $200 मिलियन पर वैल्यू कि गयी CraftsVilla, विशेष हस्तशिल्प, ऑर्गैनिक व गिफ़्ट आइटमों को खरीदने के लिये एकमात्र स्टाप बनना चाहते हैं। यह कपड़ों, हैंडिक्रैफ़्ट, गहनों और आर्ट समेत अनेक श्रेणियों में प्रोडक्ट उपलब्ध कराते हैं।

पिछले महीने ही इन्होंने अपने मंच पर भोजन की श्रेणी जोड़ने के लिये ऑनलाइन गोरमे भोजन बाज़ार PlaceofOrigin.in को अधिग्रहित किया।

इस समय CraftsVilla के पास $120 मिलियन का GMV है पर यह अगले 12 महीनों में $500 मिलियन के GMV तक पहुंचने का लक्ष्य साधे हैं। कंपनी IPO के लिये जाने से पहले 12-18 महीनों मे एक बिलियन से अधिक वैल्यूएशन प्राप्त करने का प्रयास भी करेगी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन