ई-कॉमर्स खबर डिजिटल इंडिया मेक इन इंडिया स्टार्टअप्स

अब फ़्लिपकार्ट ने भी ‘फ़्लिपकार्ट मनी’ नाम से शुरू किया अपना डिजिटल वॉलेट

Flipkart ने गुरूवार को घोषणा करी कि वह एक ऐसे क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं, जो कि शायद एकलौता ऐसा होगा जिसमें यह नहीं हैं – डिजिटल वॉलेट। और इसमें प्रवेश करने के लिए कंपनी अब नयी सेवा Flipkart Money लांच कर रही है, जो कि कंपनी के लिये ऑनलाइन वॉलेट और भुगतान माध्यम का कार्य करेगी।

छः महीनों पहले Flipkart ने खुद में व Myntra में भुगतान सेवा जोड़न के लिये भुगतान स्टार्टप FX-Mart में बड़ा स्टेक अधिग्रहित किया था। NGPay (Jigrahak Mobility Solutions Pvt. Ltd.) के बाद यह कंपनी का डिजिटल भुगतान क्षेत्र में दूसरा अधिग्रहण था। इस नयी भुगतान सेवा के पीछे FXMart ही है। इनको अक्टूबर, 2014 में पांच वर्षों के लिये प्रीपेड वॉलेट का लाइसेंस मिला था, जिसकी वजह से संभवतः Flipkart ने इसी कंपनी को चुना।

अभी तक Flipkart के वॉलेट में WS Retail Credit, Gift Cart ऑनलाइन रीटेलर के दूसरे सेव किये कार्ड थे। इस लांच के बाद आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और नेट बैंकिंग के प्रयोग से ₹10,000 तक एक बार में खर्च कर सकते हैं। वॉलेट पर अधिकतम बैलेंस की राशी ₹10,000 निर्धारित करी गयी है ओर इसमें प्रति माह ₹25,000 तक डाला जा सकता है।

सेवा अभी Android स्मार्टफ़ोनों और टैबों के लिये उपलब्ध है और उम्मीद है कि आने वाले कुछ सप्ताहों में इसे दूसरे मंचों पर ले आया जायेगा। सेवा Flipkart को अपनी रीफ़ंड पॉलिसी बदल कर उपभोगताओं को एक-क्लिक से भुगतान करने की सुविधा देगी।

कंपनी ने इससे पहले 2011 में क्लोज़ वॉलेट सिस्टम शुरू करी था, पर FDI के नियमों के कारण इन्हें 2013 में WS Retail तक ही सीमित होना पड़ा। कंपनी ने बाद में अपने भुगतान गेटवे Payzippy के ज़रिये जुलाई, 2013 में लाइसेंस के लिये आवेदन दिया था। इसके निरस्त होने के बाद पिछले वर्ष Payzippy को बंद कर दिया गया।

परंतु भारत में ऑनलाइन वॉलेट सेवा लाने वाली Flipkart पहली ऑनलाइन शॉपिंग सेवा नहीं है। Alibaba द्वारा बैक PayTM को ऐसी पहली वेबसाइट का दर्जा प्राप्त है जो कि ऑनलाइन वॉलेट और शॉपिग सेवा उपलब्ध करा रही है। यहां तक कि Flipkart की सबसे पुरानी प्रतिद्वंदी Snapdeal के पास भी FreeCharge नाम की खुद की वॉलेट सेवा है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन