खबर डिजिटल इंडिया स्टार्टअप्स

ऊबर ने बैंगलोर में अपनी बाइक सेवा ऊबरमोटो करी लांच, किराया ₹3 प्रति किलोमीटर से शुरू

Uber ने आज बैंगलोर में अपनी बाइक सेवा UberMoto को लांच किया। लगता है कि कंपनी दो पहिया वाहनो से ऐक और रेवेन्यू विकल्प खोलना और Ola की हाल ही में लांच हुई समान कम दर की सेवा Micro को टक्कर देना चाहती है।

UberMoto को इससे पहले बैंकॉक में शुरू किया गया था और बैंगलोर यह सेवा प्राप्त करने वाला दूसरा शहर होगा। इसके लिये किराया ₹3 प्रति किलोमीटर से शुरू है।

संभवतः Uber इस सेवा को इसलिये लांच कर रही है, क्योंकि बैंगलोर में भी बैंकॉक जैसे यातायात भीड़ की दिक्कत हो गयी है। जहां सेवा बैंगलोर में केवल पायलट आधार पर लांच हो रही है, कंपनी इसके अच्छा प्रदर्शन करने पर दूसरे शहरों में इसका विस्तार भी करेगी।

सुरक्षा की बात करें तो UberMoto पर सुरक्षा के सभी विकल्प उपलब्ध हैं, जैसे GPS ट्रैकिंग, दो तरफ़ा फ़ीडबैक, और यात्रा डीटेल दोस्तों व परिवार के साथ शेयर करने के विकल्प उपलब्ध हैं।

क्योंकि यातायात नियमों के अनुसार सभी दो पहिया वाहनों के यात्रियों को हेलमेट का प्रयोग करना ज़रूरी है, तो वाहन चालक उपभोगता के लिये भी एक हेलमेट लेकर चलेंगे। साथ ही चालकों को बैकग्राउंड पुलिस वेरिफ़िकेशन और दूसरे स्क्रीनिंग प्रोसेसों से गुज़रना पड़ेगा, जिससे उपभोगता की सुरक्षा बनायी रखी जा सके।

कंपनी हर राइड का 20% कमीशन लेगी और और उपभोगता को कैश या कार्ड से भुगतान करने के विकल्प के साथ इलेक्ट्रॉनिक रसीद उपलब्ध करायेगी।

इससे पहले, Uber ने ऑड-ईवन प्रयोग के कुछ सप्ताहों पहले ही दिल्ली व बैंगलोर में अपनी कारपूल सेवा का लांच भी किया था। इन्होंने ऐसे ही ऑटो रिक्शा के लिये भी प्रयोग किया था – अप्रैल 2015 में UberAuto नाम से। पर यह सेवा आठ महीनों में ही बंद हो गयी।

भारत Uber के लिये एक महत्वपूर्ण बाज़ार है और यहा यह स्थानीय Ola को टक्कर देने के लिय भरसक प्रयास कर रहे हैं, जिसने कल ही Ola Micro नाम की नयी सेवा का लांच किया था।

परंतु इस स्पेस में Uber को गुड़गांव में Baxi और बैंगलुरु में Rapido स्टार्टपों से प्रतिद्वंद करना होगा। N.O.W., Bikxie और M-Taxi की ऐसी सेवाओं को ही पहले से निवेश मिल चुके हैं। ख़बरें हैं कि Ola भी ऐसी सेवा लांच करने के विचार में है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन