एप्पल खबर मेक इन इंडिया

Apple आखिरकार हैदराबाद में $25 मिलियन की लागत में खोलेगी अपना तकनीक विकास सेंटर

प्रधानमंत्री मोदी की ‘Make In India’ पहल को बढ़ावा देते हुए, कूपरटीनो की Apple Inc. ने हैदराबाद में तकनीक विकास केंद्र खोलने की घोषणा करी है। Apple का यह IT केंद्र, हैदराबाद की 250,000 स्क्वेयर फ़िट भूमि में फैला होगा।

Apple तकनीक विकास सेंटर Microsoft, Infosys, Wipro और Cognizant के पास स्थित होगा। सभी तकनीक सेंटर हैदराबाद के Tishman Speyer के WaveRock में स्थित हैं।

इसे बनाने का कुल खर्च करीब $25 मिलियन आयोगा। पूरी होने के बाद, यहां 4,500 भावी युवकों को नौकरियां मिलेंगी।

यह केंद्र, तेलंगाना राज्य के तकनीक सेवाओं के निदेशक जीटी वेंकटेश्वर राओ के मुताबिक दुनिया में इन्फ़ॉर्मेशन तकनीक के विकास केंद्र के रूप में हैदराबाद का स्टेटस मज़बूत कर सकता है। उन्होंने कहा कि:

Microsoft Windows 10 को हैदराबाद में बनाया गया, पर वह अब वैश्विक प्रोडक्ट है।

ऐसे ही, कई तकनीक दानवों ने भारत में निवेश करने की बात कही थी। Apple ने 2006 में बैंगलोर में प्रोडक्ट सपोर्ट सेंटर खोलने की बात कही थी। यह पूरा नहीं हुआ, क्योंकि Apple ने अपना सपोर्ट केंद्र दूसरे देशों में खोलने का निर्णय ले लिया था।

रिपोर्टों के मुताबिक, यह US के बाहर, कंपनी का पहला सपोर्ट सेंटर होगा। केंद्र गरमी के अंत तक शुरू होने की संभावना है।

Google भी इस होड़ में पीछे नहीं है, और सी.ई.ओ. सुंदर पिचई ने हैदराबाद में एक नया कैंपस खोलने की बात कही थी और $160 मिलियन का यह कैंपस दक्षिण एशिया में Google का सबसे बड़ा कैंपस रहेगा।

यह घोषणा Apple सी.ई.ओ. टिम कुक के भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सैन होज़े में मिल कर मेक इन इंडिया को बढ़ाने के लिये प्लैन करने के कुछ महीने बाद ही करी है। Apple भारत में नये स्टोर खोलने के विचार में भी है।

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन