ई-कॉमर्स खबर मेक इन इंडिया स्टार्टअप्स

ऐमज़ॉन ने भारत व US में खोले मेक इन इंडिया समर्पित ऑनलाइन स्टोर

Amazon ने अपनी वेबसाइट पर ‘Make In India’ स्टोर खोला है, जिससे आप घरेलू व अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों के भारत में निर्मित किए गए प्रोडक्ट खरीद सकते हैं।

साथ ही, कंपनी ने कहा कि वह भारतीय प्रोडक्टों को अपने US स्टोर पर भी फ़ीचर करेंगे। इसके साथ, उपभोगता 6000 अलग-अलग विक्रेताओं व सेलरों से प्रोडक्ट खरीद सकते हैं।

‘मेक इन इंडिया’ के अंतर्गत बेचे जा रहे प्रोडक्टों में परदे, खिलौने, भारतीय हस्तकला, आयूर्वेदिक सामान, योग ऐक्सेसरियां, नौटिकल सामान और दूसरी चीज़ें शामिल हैं।

विषय में अपने विचार व्यक्त करते हुए वाइस प्रेज़डेंट व Amazon भारत के मुख्य अमित अग्रवाल ने कहा:

अपने आसान शिपमेंट, Amazon द्वारा फ़ुलफ़िलमेंट और वैश्विक सेलिंग के कारण Amazon भारतीय विक्रेताओं, कलाकारों और व्यापारों को भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में पहुंचने के लिये सक्षम बना सकता है।

Amazon की वेबसाइट पर लिखा है:

भारत विविधता का एक संयोजन है, जो कि इनके भोजन, कपड़ों, गहनों, कला, आदि में झलकता है। इसकी विविधता के कारण, इसके प्रोडक्टों को केवल एक मंच पर ले आ पाना मुश्किल था। परंतु, Amazon का ‘Make In India’ मंच उन सभी प्रोडक्टों को साथ ला रहा है, जो भारत में बनते हैं।

कंपनी भारत में ई-कॉमर्स बाज़ार में अच्छी पोज़िशन बनाने के लिये कड़े प्रयोस कर रही है। हाल ही में इन्होंने मुख्य भारतीय सेलरों के लिये छोटी टीमों के लोन देने की बात कही, जिससे यह Flipkart व Snapdeal जैसे मंचों पर न चले जायें।

कुछ हफ़्तों पहले, Amazon ने अपने भारतीय अंग में $250 मिलियन का कैपिटल डाला था, जो कि अभी तक का सबसे बड़ा बताया जा रहा है। नया कैश भारतीय अंग के ऑपरेशन के लिये रु1,696 करोड़ प्राप्त करने के तीन महीने बाद आया है।

पिछले महीने परीक्षा सीज़न में इन्होंने Exam Central नाम का पोर्टल लांच किया था, जहां उपभोगताओं को सैंपल प्रश्न पत्र, सुलझे पेपर, आर्टिकल आदि मिलते हैं।

Amazon के लिये भारत महत्वपूर्ण बाज़ार है, क्योंकि चीन में तो उनके स्थानीय ई-कॉमर्स दानव Alibaba ने अपना पकड़ बनाये रखी है। अब देखने वाली बात है कि ई-कॉमर्स की इस होड़ में आगे कौन निकलता है, क्योंकि बात अब निवेश अंकों की ही नहीं, उपभोगता अनुभव की भी हो गयी है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन