खबर स्टार्टअप्स

ऑटो रिक्शा ऐग्रिगेटर जुगनू को मिला बी सत्र में $5.5 मिलियन का निवेश

PayTM द्वारा निवेश  किये ऑटो रिक्शा ऐग्रिगेटर Jugnoo ने अपना $5.5 मिलियन का निवेश सत्र बंद किया, जिसकी अगुवाई PayTM ने करी और इसमें Snow Leopard ने भी हिस्सा लिया।

इससे पहले, इसी चरण में इन्हें $3 मिलियन मिले थे और दूसरे चरण में $2.5 मिलियन, जिससे यह सत्र $5.5 मिलियन का हो गया।

PayTM के संस्थापक व सी.ई.ओ. विजय शेखर शर्मा ने कहा:

अपनी स्थापना से Jugnoo ने बहुत भरोसेमंद बढ़ंत दिखाई है। अपने नियंत्रित अपरोच व उपभोगता इंगेजमेंट से यह ऑटो रिक्शा स्पेस को समझने में कामयाब रहे हैं।

इस नए निवेश के आगमन के साथ, यह भारत के लगभग सभी क्षेत्रों तक पहुंचना चाहते हैं, नये कार्यालय खोलना चाहते हैं, सप्लाय की गुणवत्ता को बहतर करना चाहते हैं, चालक की वृद्धी व कार्य में बहतरी के लिये इंसेंटिव व ईनाम लाना चाहते हैं, और मार्केटिंग व प्रचार कैंपेनों को बहतर करना चाहते हैं।

नवंबर 2014 में समर सिंघला व चिनमय अग्रवाल ने Jugnoo को एक ऐसे ऐप के तौर पर स्थापित किया था जो एक शहर में एक से दूसरी जगह जा रहे यात्रियों को ऑन-डिमांड ऑटो रिक्शा उपलब्ध कराये। कंपनी ने अपनी सेवाएं देश के 22 शहरों में शुरू कर दीं हैं, जहां 2 मिलियन उपभोगता रोज़ाना 30,000 ट्रांज़ैक्शन करते हैं।

PayTM, जिसने इस सत्र की अगुवाई करी, ने कुछ महीनों पहले ही Jugnoo में $10 मिलियन का निवेश और किया था। स्टार्टप ऑटो रिक्शा के माध्यम से किराना व दूसरा सामान भी डिलिवर करता है। इससे पहले स्टार्टप को ए सत्र मे $5 मिलियन प्राप्त हुए थे।

Jugnoo के सह संस्थापक व सी.ई.ओ. समर सिंघला ने कहा:

इस Jugnoo के निवेश के साथ हम भविष्य में अनेक संभावनाएं देख रहे हैं। हर नये शहर के साथ हमारा विस्तार भी बहतर हो रहा है। इस निवेश के साथ आने वाले 6 महीनों में हम 25 और शहरों में विस्तार करेंगे और देश के दूर दराज इलाकों में भी ऐक्सेस उपलब्ध करायेंगे।

Snow Leopard Ventures के संस्थापक क्रिस कोलेनाटी ने कहा:

Jugnoo पबलिक ट्रांस्पोर्ट पर निर्भर रहने वाले लोगों को एक बहतर विकल्प उपलब्ध कराते हैं। ऑटो प्रयोग को बढ़ा कर व इस क्षेत्र में स्ट्रक्चर लाकर, उन्होंने बाज़ार को पूरी तरह बदल दिया है। यह एक ऐसी चीज़ उपलब्ध करा रहे हैं जो कि आज के समय में पूरी तरह समझ आती है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन