खबर स्टार्टअप्स

माय चाइल्ड को अपने प्रारंभिक समय में मानसिक परेशानियां पहचानने के ऐप के लिये $100 हज़ार का मिला निवेश

चिकित्सा का सबसे थकाने वाला कार्य शायद अब आसान होने जा रहा है। अभिभावकों के अपने बच्चों में शुरवाती दौर में ही मानसिक परेशानियां पहचानने के लिये 19 साल के हर्ष सोंग्रा द्वारा बनाये गये My Child ऐप को एंजल निवेशकों से $100 हज़ार का निवेश प्राप्त हुआ है।

निवेश कि अगुवाई 500 Startups ने करी और इसमें समीर बंगर, अनीशा मित्तल, अमित गुप्ता, पल्लव नधानी, ललित मंगल, अरिहंत पत्नी, डॉ ऋतेष मलिक, देओब्रत सिंह, सौरभ परुथी व सिंगापुर एंजल नेट्वर्क जैसे निवेशकों ने हिस्सा लिया।

निवेश तकनीक बहतर करने व ऐप को पूरा करे में प्रयोग होंगे।

हमारे पास इसके लिये शुरवाती रोडमैप था। इस निवेश के साथ प्रोडक्ट को पूरा कर हर अभिभावक के लिये इसे एक गो-टू मार्गदर्शक बनाना चाहते हैं।

My Child ऐप के सह संस्थापक हर्ष सोंग्रा ने कहा।

हर्ष को 11 साल की उम्र में Dyspraxia के साथ डायग्नोस किया गया था। उन्होंने यह ऐप 11 से 24 महीने के बच्चों में मोटर संचालन व न्यूरोलॉजिकल डिसॉर्डरों का पता लगाने के लिये बनायी है।

ऐप अभिभावकों द्वारा बच्चे की लंबाई व वज़न जैसे इनपुट लेकर कार्य करती है। फिर यह हां य नहीं के जवाब वाले प्रश्न पूछती है। उत्तरों के आधार पर यह दिक्कत वाले क्षेत्र बताती है और लिये जा सकने वाले ऐक्शन प्लान भी बताती है।

यह, सच ही, ऐसे क्षेत्रों के लिये बहुत महत्वपूर्ण है, जहां पर मानसिक परेशानियों के चिकित्सक उपलब्ध नहीं हों। हम पूरी दुनिया के अभिभावकों की सहायता करने के लिये हर्ष व उनकी टीम का पूरी तरह सहयोग करने के लिय उत्साहित हैं।

My Child ऐप के बारे में बताते हुए 500 Startups में साझेदार पंकज जैन ने कहा।

ऐप के एक और निवेशक अमित ने इस ऐप की अभी के ज़माने में उपयोगिता बताते हुए कहा:

My Child ऐप स्मार्टफ़ोन की सहायता से नये ज़माने की दिक्कतें दूर करती है। जो हर्ष ने इतनी सी उम्र में किया है, वो बहतरीने है। मुझे भरोसा है कि उसका यह प्रयास कई सारे युवाओं को मनुष्य जीवन की गुणवत्ता व प्रिडिटिबल्टी बढ़ाने के लिये नयी खोंजें करने के लिये उत्साहित करेगा।

पिछले साल जनवरी में इस ऐप को लांच किया गया था। हर्ष इस ऐप को आने वाले दस सालों में 50 मिलियन अभिभावकों तक ले जाना चाहते हैं। इनका उद्देश्य है एक स्वस्थ बच्चा बड़ा करने के लिये अभिभावकों के लिये पूरी गाइड बनाना। वह इस ऐप पर एक कम्युनिटी मंच बनाने के प्रयास में भी हैं, जिससे वह दूसरे अभिभावकों व चिकित्सकों से सुझाव आदि प्राप्त करने के लिये जुड़ सकें।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन