खबर स्टार्टअप्स

Dogspot ने अपनी सेवाओं और टीम के विस्तार के लिए रतन टाटा व अन्य से प्राप्त किया निवेश

Dogspot पालतू पशुओं के लिए आवश्यक उपकरणो व उत्पादों के लिए ऑनलाइन बाज़ार ने आज रतन टाटा से सीड राउंड में एक अज्ञात राशि का निवेश प्राप्त करने की घोषणा की है। अन्य भागीदारों में रॉनी स्क्रूवाला, अशोक मित्तल, ऋषि परती, धीरज जैन व अभिजीत पाई आदि हैं।

इस नए आ रहे निवेश के साथ कम्पनी की योजना अपने सेवाओं की सीमा का विस्तार व उत्पादों विस्तृत शृंखला पेश करने की है। इसके साथ ही ये इस वित्त का उपयोग अपनी टीम को बढ़ाने व प्रोदयोगिकी के उन्नयन के लिए भी करेगा।

निवेश के बारे में बोलते हुए रॉनी स्क्रूवाला ने कहा।

हमने Dogspot में जल्द निवेश किया क्यूँकि हमें विश्वास है की भारत में पालतु पशुओं का बाज़ार अगले पाँच सालों में अद्वितीय रूप से बढ़ेगा। dogspot.in पशुओं के बारे में अधिक जानने के लिए और उनके उत्पादों के लिए एक ई- कॉमर्स मंच है।

ये 2007 में एक सामुदायिक वेब्सायट के रूप में शुरू हुई थी जो 2011 में ई- कॉमर्स में परिणित हो गयी। कम्पनी की योजना अगले एक साल में अपनी टीम के आकर को दुगना कर के 40 करने व अपने सकल माल मूल्य को तीन गुना बढ़ाने की है।

इससे पहले 2013 में इसने India Quotient से एक अज्ञात राशि का निवेश प्राप्त किया था। और पहले 2011 में इसने विकास सक्सेना, वैभव गरोडिया, व रितेश चौहान से निवेश प्राप्त किया था। 2012 में tanjai ventures और kibo partners ने भी कम्पनी में निवेश किया था।

Dogspot.in कुत्तों और और कुत्तों से सम्बंधित सभी उत्पादों के लिए एक मंच है। ये सूचनाओं व उत्पादों को आयोजित कर पशु प्रेमी समुदाय को पास लाता है व कुत्तों से सम्बंधित सारे समाधान प्रदान करता है।

कम्पनी ने 2014 में कुत्ते बिल्लियों व पक्षियों के लिए अपना ख़ुद का प्राईवेट लेबल भी लॉंच किया है। इसके द्वारा कम्पनी ख़ुद का मार्जिन ख़ुद से निर्धारित कर पाएगी व अब इसे दूसरी साइट्स से प्रतिस्पर्धा भी नहीं करनी पड़ेगी।

कम्पनी के सह संस्थापक और CEO राना अथेया ने कहा।

मिस्टर टाटा द्वारा किया गया निवेश हमारे और हमारे निवेशकों द्वारा लम्बे समय से किए गए विश्वास की पालतू जानवरों की देखभाल के क्षेत्र में भारी विकास व परिवर्तन की सम्भावना है का समर्थन करता है।

उन्होंने आगे की 4 मिल्यन पालतू कुत्तों के साथ पालतू जानवरों का बाज़ार की क़ीमत लगभग 1.2 बिल्यन डॉलर है जो की 35 % सालाना की दर से वृद्धि कर रहा है।

वर्ष 2013 14 कम्पनी का कुल कारोबार 4 करोड़ रहा और मार्च 2015 तक ये दुगना हो गया था। और अगले 12 महीनो में इसके तिगुना हो जाने की उम्मीद है।

रतन टाटा का ये निवेश व्यक्तिगत क्षमता में कम्पनियों में किया गया 20वाँ निवेश है। उन्होंने कुछ बड़ी भारतीय कम्पनियों के साथ साथ विदेशी कम्पनियों जैसे की Ola, Xiaomi, Snapdeal, और अन्य में भी निवेश किया है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन