खबर माइक्रोसॉफ्ट

Microsoft India के अनुसंधान विभाग के मुनाफे में 30% की वृद्घि

Microsoft इंडिया की रीसर्च एंड डिवेलप्मेंट विंग, जो की भारत के अंदर व्यावसायिक ग्राहकों को सोफ़्टवेयर समाधान उपलब्ध कराता है द्वारा दाख़िल की गयी एक RoC के अनुसार समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में मुनाफ़े में कुल 30% की उछाल देखी गयी है।

इस दाख़िले के अनुसार मार्च 2015 तक कुल लाभ 271.3 करोड़ (209.48 करोड़) के क़रीब आँका गया है जो की हालाँकि माइक्रसॉफ़्ट के अमेरिका या चीन में प्राप्त राजस्व से बहुत कम है। फिर भी ये दिखाता है कि अमेरिकन कम्पनियों के भारतीय सहायकों ने भारत में भी लाभ अर्जित करना शुरू कर दिया है।

अभी ये लाभ 2,635 करोड़ रुपय पर पहुँच चुका है जो पिछले साल की तुलना में 15% ज़्यादा है।

दाख़िले के अनुसार माइक्रसॉफ़्ट इंडिया अनुसंधान और विकास विंग मुख्य रूप से माइक्रसॉफ़्ट के लिए उत्पाद सहायता सेवा, सोफ़्टवेयर विकास सेवा और अन्य सहायता सेवा प्रदान करता है। कम्पनियों ने कहा की अपने विस्तार की योजना को ध्यान में रखते हुए व संसाधनों के संरक्षण के क्रम में कम्पनियों इस वर्ष लाभांश का भुगतान नहीं करेगी।

इस वित्तीय वर्ष में लाभ में प्रमुख योगदान कम्पनियों के सोफ़्टवेयर विकास प्रभाग का रहा। इस विभाग के द्वारा हुआ लाभ लगभग 1,988.4 करोड़ का था जबकि उत्पाद समर्थन सेवा द्वारा 598.7करोड़ रुपय का था।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन