खबर डिजिटल इंडिया स्टार्टअप्स

Google ने लांच करी Digital India- एक ऐसी वेब उपस्थिती जो दिखाएगी तेज़ी से बढ़ते भारतीय तकनिकी स्टार्टअप्स

उनके मुख्यालय में प्राधानमंत्री मोदी को सुंदर पिचई द्वारा किये गये वादे के अंतर्गत, Google ने Digital India को लांच किया। इस नई वेबसाइट को गूगल ने अपने क्षेत्र में नाम कमा रहे तकनीकी स्टार्टपों को तवज्जु देने के लिए लांच किया है।

जहां हम इस वेबसाइट के बारे में भी बताएंगे, यह ध्यान में रखना होगा कि इस मंच का प्रयोग Google, विश्व के तीसरे सबसे बड़े प्रोद्योगिकी स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र, भारत में अपने प्रोडक्टों के प्रचार के लिये भी करेगी।

Google के दक्षिण-पूर्वी एशिया व भारत के वाइस प्रेज़िडेंट राजन आनंदन, जो कि खुद निवेशों में बहुत बढ़ चढ़ के भाग ले रहे हैं, ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा:

इस सपने को साकार करते हुए, हमें एक समर्पित स्थान (g.co/digitalindia) का लांच कर के बहुत उत्सुकता हो रही है, जिसपर भारत में हो रही डिजिटल क्रांती को दर्शाने का प्रयास हम करेंगे।

यह समर्पित उपस्थिती एक ब्लॉग की तरह है, जिसपर कुछ स्टार्टपों के संस्थापकों की विशेष कहानियां लिखी जायेंगी, वो भी, किसी-न-किसी Google प्रोडक्ट का प्रयोग कर के। आप नीचे देख सकते हैं कि यह वेबसाइट कैसी दिखती है:

Screen Shot 2015-12-10 at 7.42.11 pm

इंटरफ़ेस, जिसे बहतरीन तरीके से डिज़ाइन किया गया है, में अभी भी दिकेकतें व बग नज़र आ रहे हैं। उदाहरण के तौर पर, लिंक क्लिक करने पर, स्थानांतरण की आसानी जितनी कंपनी-और उपभोगता-नें उम्मीद करी थी, उतनी नहीं है। और भारत जैसे देश में, जहां वैसे भी अधिकतम लोगों के पास तेज़ इंटरनेट की सुविधा नहीं है, वहां तो यह और भी दिक्कतें लायेगा। उदाहरण के तौर पर पेज पर ऊपर से नीचे स्क्रोल करना भी बहुत आसान नहीं है।

किसी भी स्टार्टप पर क्लिक करने पर एक पॉप अप आता है, जो कि आपको उस स्टार्टप की जानकारी देता है। आर्टिकल में आपको स्टार्टप के व्यापार मॉडल, लोकेशन के बारे में बताया जायेगा, और एक लंबा इंट्रोडक्शन दिया जायेगा कि कैसे वह स्टार्टप Google या उनके किसी प्रोडक्ट का प्रयोग कर रहा है। यह रहा Zesty Bites स्टार्टप के आर्टिकल का उदाहरण, जो कि उपभोगताओं तक मिठाइयां डिलिवर करता है।

Screen Shot 2015-12-10 at 7.45.18 pm

पर मुख्यतः ये भारतीयता में ढली हुई लगती है: पारंपरिक और रंगीन। कुछ कुछ स्थानों पर पैची होने के बाद भी इनका UX अच्छा प्रतीत होता है।

पर हमें उम्मीद है कि Google इसको जल्द ही ठीक कर लेगी। इसपर, स्टार्टपों को इंडस्ट्री के बिनाह पर बांटा जायेगा, जिसमें तकनीक को एक पूरा स्थान अलग से मिलेगा। इसके अलावा शिक्षा, मनोरंजन व मैनिफ़ैक्चरिंग क्षेत्र भी हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन