ई-कॉमर्स खबर डिजिटल इंडिया स्टार्टअप्स

भुगतान स्पेस में अपनी उपस्थिती बढ़ाने के लिये Citrus Pay ने RuPay व Visa से किया साझा

व्यापार में विस्तार करने के लिये व भारतीय क्षेत्र में अपनी उपस्थिती दर्ज कराने के लिये मुंबई के डिजिटल वॉलेट स्टार्टप Citrus Pay ने RuPay, Visa व दूसरी ऐक्टिविटियों के होस्टों से हाथ मिला लिये हैं।

जीतेंद्र गुप्ता व सत्येन वी कोठारी द्वारा स्थापित Citrus Pay एक फ़िनटेक कंपनी हैं, जो कि अपने उपभोगताओं को आसान किये हुए भुगतान विकल्प उपलब्ध कराती है। Citrus एयरलाइनों, यूटिलिटियों, बाज़ारों व दूसरे मर्चेंटों से साझा कर उपभोगता को भुगतान व मोबाइल बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराता है।

Citrus Pay अधिकतम उपभोगता बनाने के प्रयास कर रहा है। इसी के तहत इन्होंने भुगतान बैंक लाइसेंस के लिये आवेदन भी दिया था। इन्हें यह लाइसेंस तो नहीं मिला, पर अब ये भारत के राष्ट्रीय भुगतान कॉर्पोरेशन की कार्ड स्कीम RuPay के उपभोगताओं को खींचने का प्रयास करते दिख रहे हैं।

हम RuPay कार्डों को ऐक्सेप्ट कर अगले 60-90 दिनों में अपने 10 मिलियन के वॉलेट उपभोगता गण को 2 मिलियन और से बढ़ाना चाहते हैं।

Citrus Pay के एम.डी. जीतेंद्र गुप्ता ने कहा।

Citrus Pay के अधिकतम उपभोगता बड़े शहरों के हाई प्रफ़ाइल लोग हैं, और छोटे शहरों व ग्रामीण जगहों से उनके सिर्फ़ पांचवे भाग के उपभोगता आते हैं। ऐसे दूर दराज क्षेत्रों में RuPay की पकड़ बहतर है, जिस कारण से Citrus Pay ने इनसे साझा किया।

RuPay का प्रयोग करने वाले उपभोगताओं को हम शुरवाती दौर में वॉलेट रीचार्ज करने पर 10% कैशबैक की सुविधा दे रहे हैं। इससे हमारे साझेदारों को भी लाभ होगा।

गुप्ता ने आगे कहा।

भारत में बड़ी हिस्सेदारी के लिये फ़िनटेक स्पेस बहुत ही उत्सुक हो रहा है। हाल ही में चीन की Alibaba द्वारा बैक किये PayTM नें अपने पंख फैलाये और भारत की सबसे पहली कॉग्लॉमरेट बन गयी।

वहीं Snapdeal अपने FreeCharge में PayTM से प्रतिद्वंद करने के लिये निवेश भरे जा रहा है। MobiKwik व Oxigen जैसे मंच भी खुद को बढ़ा कर बहतर होते जा रहे हैं।

नये वर्टिकलों में प्रवेश करने के लिये Citrus Pay की अभिभावक कंपनी Citrus Payment Solutions नें हाल ही में बैंगलोर की भुगतान कंपनी Zwitch को अक्वायर किया था।

अक्टूबर में इन्हें सी सत्र में अपने पुराने निवेशकों Sequoia Capital, eContext Asia, Beenos Asia, व नये निवेशक Ascent Capital से $25 मिलियन (करीब ₹162 करोड़) का निवेश प्राप्त हुआ है। इस निवेश सत्र के कारण इनका वैल्युएशन करीब $90-$100 मिलियन के आस पास जा रहा है।

 

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन