खबर स्टार्टअप्स

नापतोल को जापानी समूह की मित्सुई ऐंड कंपनी से मिला अतिरिक्त 51 मिलियन डॉलर का निवेश

नापतोल जो एक बहुत लंबे समय से भारत की सबसे पुराने टेली-कॉमर्स कंपनियों में से एक है, ने आज जापानी समूह की मित्सुई ऐंड कंपनी से अतिरिक्त 51 मिलियन डॉलर का निवेश प्राप्त करने की घोषणा की। ये इसी साल की शुरुआत में अर्जित २० मिलियन डॉलर के प्राप्त निवेश का ही एक अगला कदम है।

यह नवीनतम वित्तपोषण एक काफ़ी महत्वपूर्ण कदम है जिसकी वजह से नापतोल में मित्सुई एंड कंपनी के की हिस्सेदारी 5% से 20% बढ़ जाएगी. नापतोल ने बताया की इस सौदे का उद्देश्य नापतोल की इनहाउस शॉपिंग इंडस्ट्री में विकास की गति को काफ़ी तेज़ करना है। ज़ाहिर है ये बात तथ्यों के समर्थन की अपेक्षा करती है जो अभी फिलहाल हमारे पास उपलब्ध नही हैं।

कंपनी इस निवेश का उपयोग अपनी पहुंच का विस्तार और एक कुशल आपूर्ति श्रृंखला के निर्माण के लिए करना चाहती है। हम अपनी स्टूडियो क्षमताओं का विकास कई भाषाओं में और अधिक सामग्री उपलब्ध कराने व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश करने के लिए करेंगे।

नापतोल हर दिन टीवी के मध्यम से 160 मिलियन दर्शकों के घर तक पहुँचने का दावा करती है। कंपनी हर दिन विभिन्न भाषाओं में 350 घंटे से अधिक के विज्ञापनों को प्रसारित करती है तथा ये घर व जीवन शैली से जुड़ी श्रेणियों जैसे की एलेक्ट्रॉनिक्स, परिधान, आभूषण आदि में एक विस्तृत उत्पाद शृंखला उपलब्ध कराती है।

इसे भी संयोग ही कहा जाएगा की नापतोल भारत की ऐसी अकेली मल्टी चॅनेल शॉपिंग कंपनी है जिसकी उपस्थिति टीवी, इंटरनेट , प्रिंट व मोबाइल तक में है।

ये कंपनी मनु अग्रवाल द्वारा 2008 में स्थापित की गयी थी। तब से आज तक में कंपनी ने अपनी निवेश अर्जित करने की चार शृंखलाओं में पाँच अलग अलग निवेशकों से 75 मिलियन डॉलर अर्जित किए हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन