खबर स्टार्टअप्स

MindTickle को अपने क्लाउड सेल्स सॉफ्टवेयर के लिए मिला ए सत्र में $12.5 मिलियन का निवेश

सेल प्रतिनिधियों के लिये क्लाउड आधारित सॉफ़्टवेयर बना रही कंपनी MindTickle को ए सत्र के निवेशों में $12.5 मिलियन का निवेश प्राप्त हुआ है, जिसकी अगुवाई New Enterprise Associates ने की थी।

पूर्व निवेशकों Qualcomm Ventures व Accel Partners ने भी इस सत्र में भाग लिया। इस निवेश का उपयोग कंपनी अपने सॉफ़्टवेयर को बहतर बनाने में करेगी।

कंपनी को चार वर्ष पूर्व निशांत मुंगली, मोहित गर्ग, दीपक दिवाकर और कृष्ण देपुरा ने स्थापित किया था। कंपनी द्वारा बनाया गया सॉफ़्टवेयर सेल्स में ट्रेनिंग की अवधी को कम कर देता है और सेल्स पर्सनों को बदलते प्रोडक्टों के बारे अवगत करा कर अपने कार्य को बहतरीन कोटी का रखने में सहायता करता है।

सॉफ़्यवेयर को पुणे मे इनकी 40 लोगों की टीम ने बनाया है। यह डेटा विज्ञान व गैमिफ़िकेशन का प्रयोग कर नये व पुराने दोनों तरीके के सेल करामचारियों की सहायता करते हैं।

एक ऐप इंटेलिजेंस टूल AppDynamics की सी.ई.ओ. ज्योती बंसल ने इस सॉफ़्टवेयर के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा:

हमारे सेल्स के विस्तार के साथ सेल में सामंजस्य बैठाने में हमें दिक्कतें होने लगी थी। MindTickle की सेल्स रेडीनेस तकनीक का प्रयोग करने के बाद हमारे विन रेट पर व छोटी हो रही सेल साइकल पर बहुत प्रभाव पड़ा है।

ऑटोमेशन व डेटा वाली कई कंपनियों के सेल्स विभाग में पहले ही इस सॉफ़्टवेयर ने अपनी जगह बना ली है। तकनीक लॉबी Nasscom के मुताबिक 2025 तक भारतीय तकनीक खिलाड़ियों का दुनिया की मार्केटिग तकनीक में $45-$55 बिलियन तक का हिस्सा होगा।

इनके उपभोगताओं में Cloudbase, Ola, Cloudera, Bloomreach, Avalara, Nutanix, Rubicon, Appdynamics समेत साठ से अधिक कंपनियों का नाम आता है। इससे पहले कंपनी को सीड निवेश में Accel Partners व Moneta Ventures से $1.8 मिलियन का निवेश मिला था।

सैन फ़्रैंसिस्को में Accel Partners के साझेदार दिनेश कटियार ने कहा

US व दुनिया में कोई बड़ा कार्य कर पाने की क्षमता हम बहुत कम कैटेगरी डेवलपरों में देख रहे हैं। MindTickle उनमें से एक है।

NEA में जनरल साझेदार रवी विश्वनाथन, जो कि के बोर्ड से भी जुड़ने वाले हैं, ने कहा:

सेल प्रोडक्टिविटी बाज़ार में हम बहुत ही मज़ेदार विभाजन देख रहे हैं। एक वर्ष से भी कम के समय में MindTickle ने जितना बड़ा व अच्छा उपभोगता गण जमा कर लिया है वो काबिले तारीफ़ है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन