खबर डिजिटल इंडिया

अगले महीने तक भारत अमेरिका को पछाड़ कर बन जाएगा दूसरा सबसे अधिक इंटरनेट प्रयोग करने वाला देश

भारतीय इंटरनेट व मोबाइल असोसियेशन (IAMAI) और बाज़ार रीसर्च फ़र्म IMRB International द्वारा हाल ही में कराए गए सर्वे के अनुसार भारत में इंटरनेट प्रयोग करने वाले उपभोगताओं की संख्या दिसंबर तक पिछले साल से 49% की बढ़ंत के साथ 402 मिलियन हो जायेगी।

इसी के साथ भारत US को पछाड़ कर दूसरा सबसे अधिक नेट प्रयोग करने वाला देश बन जायेगा। पहला चीन है, जहां 600 मिलियन लोग नेट का प्रयोग करते हैं।

सर्वे यह भी दर्शाता है कि अक्टूबर 2014 में 69% लोग रोज़ाना इंटरनेट का प्रयोग कर रहे थे, जो कि पछले वर्ष से 60% अधिक है। और यह बड़ी संख्या सिर्फ़ देश के नौजवानों की नहीं है, क्योंकि यहां कामकाजी महिलाओं, कई बज़ुर्ग व घरेलू महिलाओं में 75% नेट का प्रयोग रोज़ाना कर रहे है।

इस सर्वे में यह विशेष रूप से कहा गया कि भारत में सस्ते स्मार्टफ़ोन आने के साथ ग्रामीण इलाकों में इंटरनेट के उपभोगता बढ़ गये हैं। अक्टूबर 2015 में 77% वृद्धी के साथ इनकी संख्या 108 मिलियन थी, जो कि दिसंबर 2015 तक 117 मिलियन व जून 2016 तक 147 मिलियन हो जाने की संभावना बताई जा रही है।

ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाइल इंटरनेट उपभोगताओं की संख्या में और भी अधिक 99% वृद्धि आयी है, जो कि अक्टूबर 2015 में 80% मिलियन थी। दिसंबर में इनकी संख्या 87 मिलियन और जून 2016 तक इनकी संख्या 100 मिलियन हो जानी संभव है। मुख्य इंटरनेट ऐक्सेस पॉइंट के अनुसार भी ग्रामीण क्षेत्र से मोबाइल इंटरनेट प्रयोग करने वालों की तादात 2014 के 38% से 2015 में 60% हो गयी है।

ग्रामीण इंटरनेट उपभोगताओं के बारे में जो एक विशेष चलन देखा गया वो यह था कि ऑनलाइन बातचीत के लिये इंटरनेट प्रयोग करने वालों की संख्या कम हुई है और मनोरंजन के व सोशल नेट्वर्किग के लिये इंटरनेट का प्रयोग करने वाले लोगों की संख्या में वृद्धी आयी है। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के 21% से 36% लोग अभी सोशल नेट्वर्किग का प्रयोग गेमिंग के लिये कर रहे हैं, वहीं पिछले साल से 33% बढ़ोत्तरी के साथ 80% लोग इंटरनेट का प्रयोग मनोरंजन साइटों के लिये कर रहे हैं।

रिपोर्ट ने यह भी दिखाया कि ग्रामीण 71% पुरुष इंटरनेट का प्रयोग कर रहे हैं, वहीं महिलाएं केवल 29% उपभोगताओं में आयीं। वहीं अगर शहरी क्षेत्रों में देखें तो पुरुष से महिलाओं का अंतर 62:38 का है। पुरुषों के लिये बढ़ंत दर 50% थी, वहीं महिलाओं के लिये यह आंकड़े 46% थे।

इस सर्वे को मेट्रो शहरों व कोम्बटूर, जयपुर, लुधियाना, लखनऊ व विशाखापट्टनम सहित 35 शहरों में कराया गया था। आठ मेट्रो शहरों में 31% के साथ उपभोगताओं की संख्या सबसे अधिक थी, जिनमें मुंबई मे सबसे अधिक इंटरनेट उपभोगता मौजूद हैं।

छोटे मेट्रो शहरों में भी इंटरनेट उपभोगताओं में 60% की वृद्धी आयी है और सूरत जैसे छोटे शहरों में इंटरनेट ओनरशिप की संख्या सबसे अधिक देखी गयी है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन