खबर डिजिटल इंडिया स्टार्टअप्स

स्वास्थ-तकनीक स्टार्टपों को अधिकतम शुरवाती निवेश, ई-कॉमर्स स्टार्टपों को बड़े निवेश: आई.आई.टी.-एम रिपोर्ट

अपने सातवें सालाना भारतीय वेंचर कैपिटल व प्राइवेट एक्विटी रिपोर्ट 2015, जिसे The Tech Portal को विशेष तौर पर भेजा गया, में IIT-मद्रास ने भारत के निवेशो व प्राइवेट एक्विटी का विस्तृत ब्योरा दिया है।

हमें मिल रही हायपरलोकल डिलिवरी, ग्रोसरी व ई-कॉमर्स को मिले अधिक निवेश के बारे में आ रही खबरों को नकार, रिपोर्ट के अनुसार भारत के नौ सबसे बहतरीन स्टार्टप सेक्टरों में स्वास्थ तकनीक के स्टार्टपों को अधिकतम औसत निवेश मिले हैं।

रिपोर्ट के अनुसार शुरवाती स्टार्टपों में कुल औसत निवेश ₹12.58 करोड़ का हुआ है। जहां अलग-अलग इंडस्ट्रियों में निवेशों में अंतर है, यह निवेश ज़्यादा नहीं है। IT & ITES इंडस्ट्री को कमतर औसत (₹10.16 करोड़) निवेश मिला है, और HLS इंडस्ट्री को अधिकतम औसत निवेश (₹16.31 करोड़) मिला है।

Screen Shot 2015-10-19 at 6.16.07 pm

भले ही स्वास्थ सेवा सेक्टर को अधिकतम औसत निवेश मिले हों, पर इंटरनेट बाज़ार व ई-कॉमर्स सेक्टर को अधिक संख्या में शुरवाती दौर के निवेश मिले हैं। IT & ITES सेक्टर इसके पीछे रहा है। शुरवाती दौर के 60 निवेश इन्हीं सेक्टरों में रहे हैं। साथ ही, खेती व निर्माण स्टार्टपों को कमतर निवेश मिले हैं।

इससे इतर, रिपोर्ट ने निवशों द्वारा निवेकों ने कितना औसत स्टेक बटोरा यह भी बताया, एक आंकड़ा जो कम ही देखने मिलता है।

Screen Shot 2015-10-19 at 6.20.52 pm

निवेशकों द्वारा कुल बटोरे गये शेयरहोल्डिंग स्टेक 30% के करीब पहुंच रहे हैं। औसत प्राप्त स्टेकों में अधिकतम HLS सेक्टर को (33.65 प्रतिशत) व कमतर निर्माण सेक्टर (19.58 प्रतिशत) को मिले हैं। फिर भी, निर्माण के डेटा अंक कम हैं। हमारी जांच के अनुसार शुरवाती निवेश चरण में ₹12 करोड़ का निवेश हुआ है, और उद्यमियों को इस निवेश के लिये 30% तक शेयरहोल्डिंग देने के लिये तैयार रहना चाहिये।

हम आगे भी आई.आई.टी.-मद्रास द्वारा भेजी गयी रिपोर्ट का विशलेषण कर डालते रहेंगे, आप बने रहें हमारे साथ।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन