खबर स्टार्टअप्स

अपने सुरक्षा फ़ीचर में Uber ने सहायता फ़ंक्शन का डाला अपडेट

कई हादसे होने के बाद, Uber उपभोगताओं के लिये लगातार अपने सुरक्षा फ़ीचरों में बदलाव लाकर उन्हें बहतर बना रही है। इसी के चलते Uber ने अपने ऐप में एक सहायता बटन डाला है, जिसके ज़रिये कभि Uber यात्रा के दौरान दुर्भाग्य वश कोई दुर्घटना होने पर, उपभोगता तुरंत Uber व स्थानीय अधिकारियों को सूचित किया जा सके।

सहायता बटन ने Uber ऐप में पहले से मौजूद SOS बटन का स्थान लिया है, पर इसका मुख्य उद्देश्य वही है: मुश्किल में पड़े यात्री को तुरंत बचाना।

आपातकाल सुरक्षा अलर्ट फ़ंक्शन चलाने से उपभोगता को सीधे सिथानीय पुलिस अधिकारियों से कॉल द्वारा जोड़ दिया जाएगा। साथ ही, जिन शहरों में SOS सेवा उपलब्ध है, वहां सहायता बटन दबाने पर Uber पुलिस को चालक, उपभोगता व सात्रा की पूरी जानकारी भेज देगा।

कंपनी की माने तो यह कंपनी की 24 घंटे खुली रहने वाली ‘इंसिडेंस रिस्पॉन्स टीम’ को सूचित कर देगा, जो फिर पूरी राइड को ट्रैक करेंगे, फ़ोन द्वारा समस्या का निवारण करने की कोशिश करेंगे और पुलिस को जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

साध ही, उपभोगता द्वारा पहले से चुने गये आपातकालीन कॉन्टैक्टों को भी टेक्स्ट मेसेज द्वारा सूचित किया जाएगा, उन्हें राइट की जानकारी दी जाएगी और GPS द्वारा राइड को ट्रैक करने की सुविधा भी।

Uber के भारतीय सुरक्षा के लीड देवत देलीवाला कहते हैं

हमारा नवीनतम अपडेट भारत में हमारे सभी ग्राहकों को एक भरोसेमंद परिवहन का ज़रिया देने में हमारी सहायता करेगा। हमारी हर राइड पर GPS से रियल समय की ट्रैकिंग, द्विपक्षीय रेटिंग सिस्टम व 24×7 का उपभोगता सपोर्ट बहतरीन है। हम अपनी तकनीकी सहायता स्थानीय पुलिस तक भी पहुंचाने के लिये उत्साहित हैं, जिससे यात्रा के पहले, दौरान और बाद में सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए।

पिछले नौ महीनों में Uber नें कई ऐसे सुरक्षा फ़ीचर लाए हैं, जिनमें सभी शहरों में चालकों की दोबारा पुलिस द्वारा जांच, तुरंत रिस्पॉस टीम का गठन, SOS बटन की सेवा, स्टेटस भेजना, व छिपे फ़ोन नंबर भेजना शामिल हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन