खबर

ISRO ने भारत का पहला मल्टी वेवलेंत्थ स्पेस ऑब्ज़र्व्टरी ASTROSAT किया लांच

अंतरिक्ष में भारत की मज़बूत पकड़ की गवाही देते हुए ISRO ने अपनी पहला मल्टी वेवलेंथ स्पेस ऑब्ज़र्व्टरी ASTROSAT को लांच किया है। इस्के साथ, एसा कर पाने वाला भारत पांचवा देश है।

ISRO की सफलता के अलावा, PSLV ने भी अपने लगातार सफल लांचों की कड़ी को बनाये रख कर अपना तेरहवां लांच किया है- जिन्में छ: विदेशी सैटललाइटें 644.6×651.5 km के 6 डिग्री के ऑर्बिट में भारत के ASTROSAT के साथ भेजा गया है। ISRO ने कहा कि उम्मीद किये गये ऑर्बिट से मिला हुआ ऑर्बिट बहुत ही करीब है।

PSLV को आज इसके सबसे भारी संस्करण XL में छ: लगने वाली मोटरों के साथ लांच कियी गया था। लांच सतीश धवन स्पेस सेंटर SHAR श्रीहरीकोटा से किया गया।

320 टन के 45 मीटर लंबे PSLV-C30 सैटललाइट ने 10:00IST पर 1,513 किलो के ASTROSAT के समेत सात सैटललाइटों के साथ उड़ान भरी। PSLV-C30 के उड़ान भरने के करीब बाइस मिनट बाद ASTROSAT PSLV-C30 के चौथे चरण से अलग हो गयी और अपने ऑर्बितट में स्थापित हो गयी। बाकी छ: उपग्रह भी अगले तीन मिनट में अलग हो गये। टेक ऑफ़ के समय सातो उपग्रहों का कुल वज़न 1631 किलो था।

PSLV-C30 से अलग होते ही ASTROSAT के सोलर ऐरे की बागडोर बैंगलोर स्थित ISRO टेल्मेंट्री, ट्रैकिंग व आदेश नेटवर्क के मिशन ऑपरेशन कांप्लेक्स के स्पेसक्राफ़ट कंट्रोल सेंटर ने संभाल ली।

ASTROSAT भारत की अपने जैसी केवल पहली मल्टी वेवलेंथ स्पेस ऑब्ज़र्वेटरी है। यह उपग्रह अभियान अंतरिक्ष के बारे में और जानने के लिये चलाया गया है। ASTROSAT को पांच पेलोडों के ज़रिये अंतरिक्ष को दिखने वाली, अल्ट्रावायलेट, व इलेक्ट्रोमैग्न्टिक स्पेक्ट्रम की कम व ज़्यादा ऊर्जा वाली ऐक्स रे में देखेगा।

1994-2015 के बीच तीस सफल उड़ानों में आज के उपग्रहों को मिला कर PSLV ने अभी तक 84 उपग्रह लांच किये हैं। इस यान ने बार-बार उपयोगिता सिद्ध करी है और पोलप सूर्य सिंक्रोनस, जियोसिंक्रोनस ट्रांस्फ़र, और कम झुकाव के नीचे धरती के ऑर्बिट जैसे ऑर्बिटों में उपग्रह स्थापित किये हैं।

अभी तक विदेशी ग्राहकों के लिये PSLV ने 51 उपग्रह लांच किये हैं। आज की छ: सह यात्रि उपग्रहों के लांच को ISRO के व्यवसायिक हिस्से Antrix Corporation Limited ने पावर किये था, जो कि भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग के अंतर्गत आता है।
आने वाले दिनों में ASTROSAT के कार्यों को पूरी तरह जांच कर काम पर लगा दिया जाएगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन