खबर डिजिटल इंडिया

सुंदर पिचई ने प्रधानमंत्री मोदी का सिलिकॉन वैली में Youtube वीडियो के द्वारा किया स्वागत

प्रधानमंत्री मोदी, जो कि भारत की प्रोद्योगिकी तरक्की के समर्थक माने जाते हैं, और जो मानते हैं कि भारत की तरक्की में तकनीक आवश्यक है, ने जब अपनी 6 दिनों की सिलिकॉन वैली की यात्रा के बारे में बताया तो जब बताया, तो युवा भारतीयों एवं अमेरिकियों मैं खासा उत्साह देखने को मिला ।

जहां भारतीय इस अपने तरह की पहली यात्रा से उत्साहित हैं, वहीं सिलिकॉन वैली के तकनीकी गुरू व उच्च सी.ई.ओ. भी इस यात्रा को लेकर बहुत उत्साहित हैं और उन्होंने प्रधानमंत्री का स्वागत करने को उत्सुक हैं।

पर एक विशेष चेष्टा से, Google के नये सी.ई.ओ. सुंदर पिचई ने YouTube पर एक विडियो डाला, जिसमें उन्होंने बताया कि भारतीय प्रधानमंत्री की यह यात्रा भारत व वैली दोनों के लिये लाभकारी कैसे हो सकती है। सिलिकॉन वैली में प्रधानमंत्री का स्वागत करना कितने गर्व की बात है से शुरू कर के पचई ने वाली व भारत के गहरे संबंध के बारे में भी बताया।

भारत व सिलिकॉन वैली का रिश्ता बहुत गहरा है। भारत शुरू से तकनीकी रूप से कुशल लोग यहां भेज रहे हैं। भारत के IIT व दूसरे कॉलेजों के ग्रैजुएटों द्वारा बनाये हुए प्रोडक्टों ने दुनिये में बदलाव लाया है, पर अभी भारत अपने अन्दर बदलाव देख रहा है।

इस विडियो में उन्होंने भारत की गती से बढ़ते देश में तकनीक की आवश्यक्ता, और श्रीमान् मोदी के ‘Digital India’ के बारे मे भी बात की,

इसका देश पर बहतरीन असर पड़ेगा। लोग पहली बार ऑनलाइन आएंगे। गांव में रहने वाले, गंवई भाषा बोले वाले, लड़कियां नये कौशल सीख कर सफल व्यवसाय चलाएंगे। सभी स्तरों के व्यवसायों को उपभोगता मिलेंगे। प्रधानमंत्री मोदी का ‘Digital India’ इसके लिये महत्वपूर्ण है। यह भारत के 1.2 बिलियन लोगों को जोड़ रहा है। इसको भारत व सिलिकॉन वैली में बहुत प्रोत्साहन मिल रहा है।

सुंदर पिचई ने आने वाले भविष्य के बारे में भी बात करी

हमारे कुछ इनिशियेटिवों में हमारा कम बैंडविथ पर चलना, ऑफ़लाइन काम करना, भारतीय भाषाओं मे वेब उपलब्ध कराना, कम दरों में विद्यालयों में Chromebook उपलब्ध कराना, कोर इन्फ़्रास्ट्रक्चर में निवेश करना और Android One के साथ कम दरों के स्मार्टफ़ोन बनाना शामिल हैं।

Facebook के सी.ई.ओ. मार्क ज़करबर्ग, Apple के सी.ई.ओ. टिम कुक, Tesla के सी.ई.ओ. ईसॉन मस्क और सुंदर पिचई जैसे उच्च कंपनियों के उच्च अधिकारियों से मिलने के अलावा प्रधान मंत्री सिलिकॉन वैली स्थित भारतीय स्टार्टप Konnect में भाषण देंगे, जहां वह अपने विज़न ‘स्टार्टप इंडिया, सटैंड अप इंडिया’ के बारे में बताएंगे।

प्रधानमंत्री की यह यात्रा बहुत चौकाने वाली नहीं है। उनके तकनीक के प्रति झुकाव को देखकर अनुमान लगाया जा सकता था कि उनके कार्यों में तकनीक का मक्का समझा जाने वाले सिलिकॉन वैली भी शामिल होगा, जिनके तहत वह न्यू यॉर्क में पहले ही UN की जनरल असेंबली में भाषण दे रहे थे। पर यह सिर्फ तकनीक के लिये नहीं है, बल्कि इसलिये भी है कि वहां काम करने वाले अनेक लोगों की जड़ें भारत में स्थित हैं।

ऐसे में हमारे प्रधानमंत्री का, जो कि NRI भारतियों से पहले ही अच्छा सामंजस्य बैठा चुके है, इतने पास होकर वहां नहीं जाना मुश्किल था। इस यात्रा से वह बड़ी कंपनियों के उच्च अधिकारियों से उद्यमिता, तकनीक, रिन्यूएबल एनर्जी आदि के व इनके भारत में प्रयोग की बात करेंगे।
हम आपको इस यात्रा की सभी जानकारी देंगे। हमसे जुड़े रहें।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन