ई-कॉमर्स खबर

फ्लिपकार्ट ने WS Retail से अपने लॉजिस्टिक भाग का पुनः अधिग्रहण किया

आने वाले सालों के इसके संभावित IPO को मद्देनज़र रखते हुए भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स साइट Flipkart ने अपना लॉजिस्टिक भाग को WS Retail से वापस खरीद लिया है, जो कि अभी के सबसे बड़े विक्रेता हैं।

Mint द्वारा प्राप्त अधिकारिक पत्रों के अनुसार इस भाग को Instakart Services Pvt. Ltd. नाम के नये भाग द्वारा खरीदा गया है। पांच लोग, जो इस बात से जुड़े हुए हैं, ने नाम गुप्त रहने की शर्त पर इस खबर की पुष्टी करी।

अब WS Retil के पास सिर्फ़ Flipkart पर अपने प्रोडक्ट बेचने का कार्य बचा है। पर कंपनी WS Retail से आगे बढ़ कर अपना मार्केटप्लेस मॉडल बदलना चाहती है।

WS Retail जिसे 2009 में बनाया गया था, दरसल Flipkart के संस्थापकों सचिन बंसल व बिन्नी बंसल की कंपनी थी। उन्होंने कंपनी में अपना हिस्सा कुछ भारतीय निवेशकों को बेच कर इसके अधिकारिक पद से इस्तीफ़ा दे दिया, क्योंकि भारतीय कानून ऐसी ई-कॉमर्स कंपनियों में विदेशी निवेश नहीं आने देना चाहता जो सीधे उपभोगता को समान भेजें।

Instakart Services Pvt. Ltd. को जून में बनाया गया था। कंपनी के शेयरहोल्डर व डायरेक्टर अंकित नागोरी (मुख्य व्यापार अधिकारी, Flipkart) व रजनीश सिंह बवेजा (Flipkart के वित्त के अधिकारी) हैं। कंपनी को सिंगापुर की Klick2shop से ₹127 करोड़ का निवेश मिला है। Klick2shop को Flipkart Ltd. के सिंगापुर पते पर फ़रवरी में बनाया गया था, जो कि वहां Flipkart की होल्डिंग कंपनी है।

WS Retail का रेवेन्यू उनकी पिछले वर्ष की कमायी से दुगना, करीब ₹3,135 करोड़ का का हो गया था, जो कि Flipkart की 70%-75% सेल का हिस्सा है। कंपनी के पास अपने पोर्टल पर करीब 45,000 सेलर हैं। Flipkart अपने प्रतिद्वंदियों Alibaba से प्रेरणा लेकर प्रचार भी शुरू करेगा। इसके तहत, वह थर्ड-पार्टी विक्रेताओं से कमीशन के पैसे कम कर के उनसे प्रचार, भुगतान व लॉजिस्टिक के पैसे लेगा।

Mint से ई-मेल के ज़किये बात में Flipkart ने कहा:

हम, योजना के तहत कभी किसी ट्रांज़ैक्शन पर कोई टिप्पणी नहीं करते। Flipkart किसी भी व्यापार के लिये कॉर्पोरेट गवर्नेंस के नीयम मानती हैं। हम यह सुनिश्चित करते हैं कि हमारे किसी भी ट्रंज़ैक्शन पर किसी तरह की उंगली ना उठे, इसलिये हम हर नियम का पालन करते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन